इस्लामी स्टडी के दो छात्रों ने जीत लिया रामायण क्विज

इस्लामी स्टडी के दो छात्रों ने जीत लिया रामायण क्विज

विभिन्न धर्मों में नफरत फैलाने वाले जितना भी कोशिश करें, पर गंगा-जमनी संस्कृति की धार देखिए वह बहती ही जा रही है। अब मुस्लिम छात्रों ने जीता रामायण क्विज।

आप ईश्वर कहें, अल्लाह कहें, बात एक ही, पर कुछ सिरफिरे लोग ईश्वर और अल्लाह को भी दो बताने में लगे हैं। इसी तरह मानव जाति तो एक ही है, उसे भी बांटने की कोशिश हो रही है, पर यह मानव स्वभाव है कि उसे प्रेम और सद्भाव ही अच्छा लगता है। यही सत्य है, यही हमें ऊंचा उठानेवाली है। अब केरल के दो छात्रों ने प्रदेश स्तर का रामायण क्विज जीत लिया है।

केरल के यो दो छात्र हैं 20 वर्षीय मोहम्मद बासिथ और 23 वर्षीय मो. जाबिर। दोनों इस्लामी स्टडी के छात्र हैं। इन्होंने रामायण पर केरल की राज्य स्तरीय प्रतियोगिता जीत ली है। प्रतियोगिता ऑनलाइन हुई थी। इसे राज्य के डीसी बुक्स प्रकाशन ने आयोजित किया था।

द न्यूज मिनट ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया है। प्रतियोगिता 23 से 25 जुलाई के बीच हुई थी, जिसमें रामायण से जुड़े कठिन सवाल पूछे गए थे। बासिथ और जाबिर के कोर्स में भी रामायण थी। इन्होंने सिलेबस के अलावा भी रामायण का गहराई के साथ अध्ययन किया था। वैसे कुल पांच छात्रों ने प्रतियोगिता जीती, जिनमें इन दो के अलावा नवनीत गोपन, अभिराम एमपी तथा गीतू कृष्णन भी शामिल हैं। लेकिन जाहिर है, मीडिया में इस्लामिक स्टडी के इन दो छात्रों की चर्चा ज्यादा है।

द न्यूज मिनट से बात करते हुए जाबिर ने कहा कि सभी धर्म मानव जाति को प्रेम के साथ रहने का संदेश देते हैं। जितने भी तनाव दिख रहे हैं, वह सब मानव निर्मित हैं। उन्होंने कहा कि रामायण बताती है कि किस प्रकार सत्ता जनता के हित में काम कर सकती है, तथा किस प्रकार सबको न्याय दिया जा सकता है। राम का व्यक्तित्व बताता है कि किस प्रकार सत्ता का संचालन करना चाहिए, किस प्रकार सबको न्याय देना चाहिए तथा सत्ता की क्या जिम्मेदारी है। उन्होंने यह भी कहा कि दुनिया का कोई धर्म नफरत करना नहीं सिखाता।

21 सितंबर को चुने जाएंगे राजद के नए प्रदेश अध्यक्ष

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*