जहरीली शराब से मौत पर NHRC हस्तक्षेप गलत, RS में गरजे ललन

ललन सिंह ने में कहा, NHRC ने बिहार सरकार को सूचित किया है कि वह जांच करेगा। हुआ हंगामा। क्या भाजपा नेताओं को बचाने की कोशिश..।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और लोकसभा सदस्य ललन सिंह ने मंगलवार को बड़ा मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि बिहार में जहरीली शराब से मौत मामले पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने बिहार सरकार को सूचित किया है कि वह सारण पहुंच कर जांच करेगा। ललन सिंह ने जोर देकर कहा कि सारण में मौत के मामले से मानवाधिकार आयोग का क्या लेना-देना है। उन्होंने पूछा कि क्या कर्नाटक में जहरीली शराब से मौत मामले की मानवाधिकार आयोग ने जांच की थी। यह केंद्रीय एजेंसियों का खुलेआम दुरुपयोग है। ललन सिंह के इतना कहते ही लोकसभा हंगामे में डूब गया।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने जब मानवाधिकार आयोग के नाम पर राज्य के मामले में हस्तेक्षप का आरोप लगाया, तो विपक्षी सदस्यों ने उनका समर्थन किया। जहरीली शराब से मौत मामले की जांच राज्य की व्यवस्था कर रही है। कई पुलिस अधिकारी सस्पेंड किए गए हैं। कई गिरफ्तारियां हुई हैं। और सबसे बड़ी बात की जहरीली शराब से मौत मामले में माफिया को बचाने का आरोप खुद भाजपा सांसदों पर लग चुका है। तो क्या मानवाधिकार आयोग की नोटिस बिहार में जांच की दिशा भटकाने के लिए जानबूझ कर दिया गया है।

सोमवार को राजद ने आरोप लगाया था कि महाराजगंज के भाजपा सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल शराब माफियाओं को बचा रहे हैं। जदयू भी भाजपा नेताओं पर आरोप लगाता रहा है। सवाल है कि क्या भाजपा नेताओं से ध्यान हटाने के लिए मानवाधिकार आयोग का इस्तेमाल किया जा रहा है?

पाठकों को याद होगा कि राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा के दौरान बच्चों से मिल रहे थे। तब केंद्रीय एजेंसी बाल संरक्षण आयोग ने इसी शिकायत चुनाव आयोग से की। हालांकि गुजरात चुनाव के दौरान जब प्रधानमंत्री के साथ एक बच्चे की तस्वीर और वीडियो आया, तब केंद्रीय एजेंसी ने कोई कदम नहीं उठाया। कांग्रेस ने इस मामले पर आपत्ति भी जताई थी।

अब उसी तरह का मामला बिहार में दिख रहा है। भाजपा शासित राज्य में जहरीली शराब से सबसे ज्यादा मौत हुई, पर वहां मानवाधिकार आयोग ने जांच नहीं की। ललन सिंह ने बिहार के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप का आरोप लगाया और कहा कि बिहार की जनता बरदाश्त नहीं करेगी।

RJD का BJP सांसद पर धमाकेदार आरोप, शराब माफिया को बचा रहे

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420