KK Pathak का कड़क फरमान, रोज 50 हेडमास्टरों से मीटिंग करें

KK Pathak का कड़क फरमान, रोज 50 हेडमास्टरों से मीटिंग करें। क्षेत्रीय शिक्षा उप निदेशक को निर्देश। रोज 20 स्कूलों की करें जांच। अधिकारियों को भी किया टाइट।

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव KK Pathak के नए फरमान से विभाग के अधिकारियों के पसीने छूट गए हैं। अब उन्हें एसी ऑफिस से बाहर निकलना होगा। केके पाठक ने क्षेत्रीय शिक्षा उप निदेशकों को निर्देश दिया है कि रोज 20 स्कूलों की स्वयं जांच करें और 50 हेडमास्टरों के साथ मीटिंग करें। मीटिंग की रिपोर्ट ऊपर भेजें। रिपोर्ट से विभाग प्रगति की समीक्षा करेगा। जिस क्षेत्र में प्रगति नहीं होगी, उस क्षेत्र के क्षेत्रीय शिक्षा निदोशक पर गाज गिरना तय है।

शिक्षा विभाग के अप मुख्य सचिव केके पाठक ने सबसे पहले शिक्षकों को उनका कर्तव्य याद दिलाया। जो भी बिना सूचना के स्कूल से अनुपस्थित पाए गए, उन पर कार्रवाई हुई। स्कूलों में पढ़ाई, साफ-सफाई, मिड डे मिल के स्तर को सुधारने पर जोर दिया गया, अब विभाग के अधिकारियों को टाइट कर दिया गया है। क्षेत्रीय शिक्षा निदेशकों की प्रगति की जांच वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से भी होगी। ये अधिकारी भी 50 हेड मास्टरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से मीटिंग करेंगे। मीटिंग से पहले खुद स्कूलों की जांच करेंगे।

इसके साथ ही बिहार शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने प्रदेश के सभी जिलों के जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है कि शिक्षा विभाग के मद में जो राशि बैंकों में जमा है, उसे खर्च करें। खर्च करने की योजना बनाएं। बैंकों में शिक्षा विभाग का पैसा जमा नहीं रहना चाहिए। इस राशि को स्कूलों के विकास और अन्य जरूरी मदों पर खर्च करें। मालूम हो कि प्राथमिक विद्यालयों के खातों में 261.95 करोड़ जमा हैं, जबकि माध्यमिक विद्यालयों में 1100 करोड़ रूपये जमा हैं।

प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों का पैसा बैंकों में यूं ही जमा रहने से स्कूलों का विकास अवरुद्ध हो रहा है। इस आदेश के बाद अब स्कूलों में भवन, खेल के मैदान सहित अन्य निर्माण कार्यों में तेजी आने की संभावना है।

मणिपुर CM ने ड्रग माफिया को छोड़ने का बनाया दबाव : पुलिस अफसर

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420