कूड़े में मिले तीन संदूक बैलेट पेपर, केवल भाजपा को एतराज नहीं

कूड़े में मिले तीन संदूक बैलेट पेपर, केवल भाजपा को एतराज नहीं

बनारस में प्रोटोकॉल को तोड़ कर ईवीएम ले जाने की कोशिश के बाद अब बरेली में कूड़ा गाड़ी में मिले तीन संदूक बैलेट पेपर। सारे दल हंगामा कर रहे। भाजपा चुप क्यों?

यूपी में मतगणना से पहले गजबे खेला चल रहा है। पहले बनारस में प्रोटोकॉल को तोड़ कर जिलाधिकारी ईवीएम ले जाते दिखे। हंगामा हुआ। अब बरेली में कूड़ा गाड़ी में मिले तीन संदूक बैलेट पेपर। समाजवादी पार्टी सहित सारे दल हंगामा कर रहे हैं। केवल भाजपा चुप है। लोग पूछ रहे हैं इस चुप्पी का राज क्या है। ईवीएम और बैलेट पेपर मिलने की घटना बनारस, बरेली, मुरादाबाद और संत कबीर नगर सहित कई जिलों में हुई हैं। सारे जगह हंगामे की स्थिति।

यूपी में मतगणना से पहले ईवीएम को ले जाने, कूड़ा गाड़ी में बैलेट पेपर मिलने से आम मतदाता निराश है। उसका भरोसा हिल गया है। इसके बावजूद मीडिया इन खबरों को नहीं दिखा रहा। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा-

लिख रहा हूं ये सोचकर कि शायद जागेगा ज़मीर

बेख़बर से हो गये हैं न जाने क्यों कुछ ख़बरनवीस

बड़े टीवी चैनल इस खबर को नहीं दिखा रहे, पर सोशल मीडिया में यूपी में जहां-तहां मिल रहे ईवीएम-बैलेट पेपर पर खुलकर लोग नाराजगी जता रहे हैं। चुनाव आयोग से सवाल पूछ रहे हैं, पर जवाब देनेवाला कोई नहीं। कई स्थलों पर हंगामे का दृश्य देखा गया है।

जनसत्ता के पूर्व संपादक और वरिष्ठ पत्रकार ओम थानवी ने बनारस के कमीश्नर द्वारा गलती स्वीकारने पर कहा0पकड़े गए तो “ग़लती”, न पकड़े जाते तो? ट्विटर पर आदिवासी नाम के यूजर ने लिखा- जनता का EVM पर विश्वास खत्म हो चुका है। मानक यादव ने लिखा-UPSC का महत्वपूर्ण प्रश्न = EVM की चोरी करके कौन पार्टी बहुमत साबित करती है। उन्होंने ट्रक पर ईवीएम ले जाने का वीडियो बी शेयर किया है, जिसे लोगों ने पकड़ लिया है।

इधर मुरादाबाद में भी बैलेट पेपर सपा कार्यकर्ताओं ने पकड़ा है। यूपी राजद ने कहा-मुरादाबाद के बिलारी विधानसभा में ब्लैंक बैलेट पेपर लेकर मतगणना स्थल पहुंचे वाहन को सपा कार्यकर्ताओं ने रोका। अभी प्रशासन द्वारा मतगणना स्थल में खाली बैलेट पेपर ले जाने का क्या उद्देश्य हो सकता है? सपा प्रत्याशी ने लगाया धांधली करने का आरोप।

अखिलेश का बड़ा आरोप, लखनऊ से अधिकारी फोन कर दबाव बना रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*