10 नवंबर को जिला, प्रखंड, पंचायत की बैठक करेगा: युवा हम

मांझी ने ओमान में फंसे बिहारी के लिए अरबी में क्यों किया ट्वीट

गया में मां गंभीर बीमार है। बेटा ओमान में है। मां से मिलने के लिए परेशान, पर वहां की कंपनी आने नहीं दे रही। पूर्व सीएम जीतनराम ने अरबी में किया ट्वीट।

jitan_ram_manjhi

गया के रहनेवाले मोहम्मद वकील अंसारी ओमान में हैं। उनकी मां यहां गंभीर रूप से बीमार हैं। अंसारी अपनी मां से मिलने के लिए परेशान हैं। उन्होंने ओमान की अपनी कंपनी से भारत जाने की इजाजत मांगी, तो कंपनी ने भारी रकम की मांग की। उतनी रकम वे देने में अक्षम हैं। बात पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी के पास पहुंची, तो उन्होंने अरबी में ट्वीट किया और ओमान के अधिकारियों, वहां स्थित भारतीय दूतावास तथा भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह को भी टैग किया है। पूर्व मुख्यमंत्री मांझी ने सभी से बिहारी युवा को देश आने में मदद करने की अपील की है, ताकि वह युवा अपनी मां की सेवा और इलाज करा सके।

पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने ट्वीट किया- भारत के गया के रहने वाले मुहम्मद वकील अंसारी मस्कट में अल शिदानी एडवांस्ड प्रोजेक्ट में इलेक्ट्रीशियन के रूप में काम करते हैं। उनकी मां की तबीयत बहुत नाजुक है और कंपनी के लोग भारत वापस जाने के लिए पैसे की मांग कर रहे हैं। कृपया कार्रवाई करें।

हिंदुस्तानी अवामी मोर्चा (हम) (से) के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने नौकरशाही डॉट कॉम को बताया कि इससे पहले एक बिहारी युवक की चीन में मौत हो गई थी। उसका शव चीनी अधिकारी लाने नहीं दे रहे थे। उस समय भी पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी को जानकारी मिली, तो उन्होंने चीनी भाषा में ट्वीट करके युवक के शव को भारत भिजवाने की अपील की। मांझी के ट्वीट का असर यह हुआ कि चीनी अधिकारियों ने शव को भारत भेजा।

दानिश रिजवान ने उम्मीद जताई की पूर्व मुख्यमंत्री मांझी की अपील पर ओमान सरकार तथा भारत सरकार सकारात्मक कार्यवाही करेगी और वहां फंसे बिहार के वकील अंसारी गया आ पाएंगे।

90 पूर्व IAS-IPS ने Bulldozer justice के खिलाफ CJI को लिखा पत्र

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420