मेरे शब्दों से तकलीफ हुई, तो मैं अपनी निंदा करता हूं : नीतीश

मेरे शब्दों से तकलीफ हुई, तो मैं अपनी निंदा करता हूं : नीतीश। किसी को तकलीफ हुई तो मैं क्षमा चाहता हूं। मेरे शब्दों से एतराज है, तो शब्द वापस लेता हूं।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को बिहार विधानसभा में कल बोले गए अपने शब्दों के लिए माफी मांगी। उन्होंने कहा कि मेरे शब्दों से किसी को तकलीफ हुई है, तो मैं अपने शब्द वापस लेता हूं। उन्होंने विपक्ष की तरफ मुखातिब होकर कहा कि आप नारा लगा रहे हैं कि मुख्यमंत्री शर्म करो, तो मैं शर्म करता हूं।

बिहार विधानसभा की कार्यवाही के दौरान आज विपक्षी दल भाजपा के सदस्यों ने मुख्यमंत्री के खिलाफ जम कर नारेबाजी की। वे मुख्यमंत्री शर्म करो, मुख्यमंत्री इस्तीफा दो के नारे लगा रहे थे। इसी बीच मुख्यमंत्री ने कहा कि कल के उनके शब्दों के किसी को तकलीफ हुई है, तो वे अपने शब्द वापस लेते हैं। किसी को तकलीफ हुई तो वे क्षमा मांगते हैं। उन्होंने सदन में क्षमा मांगने से पहले सदन के बाहर प्रेस से बात करते हुए भी यही बात दुहराई। जब वे सदन में जा रहे थे , तभी मीडिया ने उनसे सवाल किया, तो मुख्यमंत्री ने कहा कि वे जनसंख्या नियंत्रण में महिला सशक्तीकरण की भूमिका बताना चाहते थे, लेकिन किसी को उनके शब्दों से परेशानी हुई, तो वे क्षमा मांगते हैं।

मुख्यमंत्री ने आज फिर दुहराया कि शिक्षा का प्रजनन दर से संबंध है। लड़की के मैट्रिक पास करने पर बिहार में प्रजनन दर में कमी आी और यह राष्ट्रीय औसत के बराबर पहुंचा। फिर बेटियों के इंटर तक की पढ़ाई करने के बाद प्रजनन दर में और भी कमी आई। हम आगे भी महिला सशक्तीकरण के कार्य करते रहेंगे।

मुख्यमंत्री की सफाई के बाद बिहार विधानसभा के अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री खुद क्षमा मांग रहे हैं, यह उदाहरण है। इसीलिए अब विपक्ष को हंगामा बंद करके सदन की कार्यवाही को बढ़ाने में मदद करना चाहिए। हालांकि कुछ मिनट में सदन की कार्यवाही दिन के दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

छत्तीसगढ़ में 71 प्रतिशत, मिजोरम में 77 फीसदी मतदान

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420