मोदी सरकार में भ्रष्टाचार उजागर करनेवाले CAG के अफसरों का तबादला

मोदी सरकार में भ्रष्टाचार उजागर करनेवाले CAG के अफसरों का तबादला। आयुष्मान भारत में मृत लोगों का इलाज, एक्सप्रेस-वे में भ्रष्चाचार का किया था पर्दाफाश।

गिरीशचंद्र मुर्मू, वर्तमान सीएजी

नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) के तीन अधिकारियों का तबादला कर दिया गया है। इन अधिकारियों ने आयुष्मान भारत में मृत लोगों का इलाज और द्वारिका एक्सप्रेस-वे में भ्रष्चाचार का के मामले को किया था बेनकाब। सीएजी की रिपोर्ट संसद के मॉनसून सत्र में सदन में पेश की गई थी, जिसमें कई स्तरों पर आर्थिक अनियमितता और भ्रष्टाचार के मामले सामने आए थे। रिपोर्ट के बाद काफी हंगामा हुआ था। अब रिपोर्ट तैयार करने वाले तीन अधिकारियों पर गाज गिरी है। उनका तबादला कर दिया गया है। तबादले की जानकारी सामने आने के बाद विपक्षी इंडिया गठबंधन ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जम कर हमला किया है।

कांग्रेस प्रवक्ता जयराम रमेश ने कहा कि मोदी सरकार सच को छुपाने और डराने-धमकाने के लिए माफ़िया की तरह काम करती है। यदि कोई उसके भ्रष्टाचार के तौर-तरीकों को सामने लाता है, तो या तो उन्हें धमकी दी जाती है या हटा दिया जाता है। उसके ताज़ा शिकार नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) के तीन अधिकारी हैं, जिन्होंने संसद के मानसून सत्र के दौरान पेश की गई एक रिपोर्ट में सरकारी योजनाओं में बड़े पैमाने पर घोटालों का ख़ुलासा किया था। CAG रिपोर्ट में इंफ्रास्ट्रक्चर और सामाजिक योजनाओं में घोटाले को उजागर किया गया था। रिपोर्ट में द्वारका एक्सप्रेसवे में 1400% लागत बढ़ने और टेंडरिंग में धांधली सामने आई थी। साथ ही साथ हाईवे परियोजनाओं से 3,600 करोड़ रुपए की हेराफेरी, दोषपूर्ण बोली प्रक्रिया और भारतमाला योजना की लागत 60% बढ़ने की बात भी रिपोर्ट में थी। इतना ही नहीं, आयुष्मान भारत योजना के ऑडिट में मृत मरीज़ों के लाखों क्लेम्स और कम से कम 7.5 लाख लाभार्थी एक ही मोबाइल नंबर से जुड़े हुए पाए गए। अब, आयुष्मान भारत और द्वारका एक्सप्रेसवे घोटालों पर रिपोर्टिंग के प्रभारी CAG के तीन अधिकारियों का मोदी सरकार में फैले भ्रष्टाचार को छुपाने के लिए ट्रांसफर कर दिया गया है। इसके बावजूद कि CAG को एक स्वतंत्र निकाय माना जाता है।

कांग्रेस ने ट्रांसफर के इन आदेशों को तुरंत रद्द करने की मांग की है। अधिकारी CAG वापस जाएं और द्वारका एक्सप्रेसवे, भारतमाला और आयुष्मान भारत से जुड़े इन महाघोटालों पर कार्रवाई हो।

सम्राट चौधरी पर भड़के नीतीश, पूछा उसके बाप को इज्जत किसने दी

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420