मनीष कश्यप पर बिहार के मज़दूरों की पिटाई का फर्ज़ी वीडियो शेयर करने का आरोप है. इस मामले में तमिलनाडु पुलिस ने एनएसए लगाया है.

‘नफरत का धंधेबाज’ मनीष कश्यप के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

‘नफरत का धंधेबाज’ मनीष कश्यप का अब लंबे समय जेल में रहना तय हो गया। ईओयू ने उसके खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी है, जिसमें उसके खिलाफ सारे सबूत दर्ज हैं।

‘नफरत का धंधेबाज’ मनीष कश्यप का अब लंबे समय जेल में रहना तय हो गया। ईओयू ने उसके खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी है, जिसमें उसके खिलाफ सारे सबूत दर्ज हैं। फिलहाल मनीष तमिलनाडु के मदुरै जेल में बंद है। ईओयू ने मनीष सहित तीन आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल किया है, जिनमें राकेश रंजन सिंह तथा आदित्य कुमार उर्फ आदित्य चौरसिया शामिल है। एक आरोपी अनिल कुमार यादव परार चल रहा है, जिसकी गिरफ्तारी की कोशिश जारी है।

ईओयू ने त्रिपुरारि तिवारी सहित तीन के खिलाफ जो चार्जशीट दाखिल की है, उसमें आईची एक्ट 2000 की धारा 66, 66 डी, 153 (ए) (बी), 505 (ए), (बी) सहित कई धाराओं से संबंधित आरोप के संदर्भ में सबूत दिए गए हैं।

मनीष कश्यप फर्जी वीडियो बना कर समाज में तनाव पैदा करने, बिहार और तमिलनाडु के बीच संबंध खराब करने, देश की एकता अखंडता को कमजोर करने के खतरनाक धंधे में लगा था, लेकिन तमिलनाडु पुलिस और फिर फिर बिहार पुलिस के सख्त रवैये से अब उसका बचना मुश्किल है। उस पर एनएसए तक लगाया है। अब उसका जेल में सड़ना तय है। इससे पहले भी उसके खिलाफ मामले चल रहे थे। वह पहले बी जेल जा चुका है। उसके खिलाफ कुल छह मामले दर्ज हो चुके हैं।

IPS अनिल किशोर यादव ने बताया क्या है Graded Inequality

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420