नई परंपरा : रेपिस्टों के स्वागत के बाद त्यागी पर भी फूल बरसे

नई परंपरा : रेपिस्टों के स्वागत के बाद त्यागी पर भी फूल बरसे

नया भारत है, नई परंपरा बन रही। गुजरात में रेपिस्टों को माला। हरियाणा में सजायाफ्ता पैरोल पर आया, तो स्वागत। अब महिला से अभद्रता के आरोपी पर फूल।

कभी यही भारत निर्भया के रेपिस्टों के खिलाफ उठ खड़ा हुआ था। फांसी मांग रहा था। तब हर भारतवासी गर्व करता था कि हमारा देश महिला के साथ दुराचार को बरदाश्त नहीं करता। अब उसी भारत में गुजरात की बिलकिस बानो के रेपिस्टों की सजा माफ की जा रही है, वह भी केंद्र सरकार द्वारा। रेपिस्टों को माला पहनाई गई। हरियाणा के तथाकथित बाबा रामरहीम हत्या और रेप के सजायाफ्ता हैं। हर चुनाव से पहले पैरोल मिल जाता है। आज भी बाहर हैं। बाहर आए, तो फूल-मालाओं से स्वागत किया गया। भाजपा की मेयर आशीर्वाद मांग रही हैं। अब इस परंपरा में नोएडा की सोसाइटी में महिला के साथ अभद्रता करने के आरोपी श्रीकांत त्यागी पर फूल बरसाए गए। नया भारत है, तो नई परंपरा भी बन रही हैं।

स्टैंड अप कॉमोडियन राजीव निगम ने लिखा-महिलाओं के साथ दुराचार के बाद जेल से छूटने पे फूल माला से स्वागत नयी परंपरा बन गयी है..चाहे श्रीकांत त्यागी हो, गुजरात के 11 संस्कारी हो या 40 दिन की पैरोल वाले बाबा जी हो..शायद यही नया भारत है।

एनडीटीवी के पत्रकार सौरभ शुक्ला ने लिखा-नोएडाःमहिला को गाली देने और अभद्रता करने के बाद जेल गए बीजेपी नेता श्रीकांत त्यागी दो महीने बाद जेल से छूट कर वापस आए .. स्वागत कुछ ऐसे किया गया कि जैसे जेल से नहीं सरहद पर दो चार आतंकवादियों को मार कर आए हैं … बातें सुनिए इनकी और तालियां बजाइए ..।

पैरोडी ट्विटर हैंडल रॉफी गांधी ने लिखा-दिवाली से ठीक पहले त्यागी रत्न मर्यादा पुरुष श्रीकांत चंद्र जी वनवास काटकर अपनी ओमेक्स नगरी लौट आये। समाज ने भव्य स्वागत किया। ओमेक्स नगरी में मची अफरा तफरी, पार्क और गार्डन हुए खाली। RWA के बूढ़े खिड़कियों से झांक रहे हैं।

9469 को नियुक्तिपत्र, दो मोडिकल कॉलेजों का शिलान्यास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*