नीतीश को थप्पड़ मारने पर राबड़ी ने दी सबसे अलग प्रतिक्रिया

नीतीश को थप्पड़ मारने पर राबड़ी ने दी सबसे अलग प्रतिक्रिया

नीतीश कुमार को एक युवक ने थप्पड़ मार दिया। कहा जा रहा है कि वह विक्षिप्त है। पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने हमले की निंदा करते हुए कही सबसे अलग बात।

कल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एक कार्यक्रम के दौरान एक युवक ने थप्पड़ मार दिया। एक बार दिल्ली के मुख्यमंत्री के साथ भी ऐसा हो चुका है। सोशल मीडिया में उस घटना की आज भी कभी-कभी चटखारे लेकर चर्चा करनेवाले कौन लोग हैं, लोग जानते हैं। बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ हुई इस घटना की सभी ने निंदा की है, लेकिन राबड़ी देवी ने निंदा करते हुए सबसे अलग प्रतिक्रिया दी।

पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमले की निंदा करते हुए कहा-मैं लोगों से हाथ जोड़कर विनती करती हूं कि ऐसा काम कभी नहीं करें। उन्होंने सिर्फ निंदा नहीं की, बल्कि लोगों से हाथ जोड़कर विनती की। उनकी इस अपील में लोकतांत्रित परंपराओं का सम्मान दिखता है। लोकतंत्र में विरोध का सबको अधिकार है, पर इस तरह का विरोध न तो हमारी परंपरा में रहा है और न ही लोकतांत्रिक मूल्यों के अनुकूल है।

ऐसे ही एक सिरफिरे ने महात्मा गांधी पर हमला किया था। आज कई लोग है, जो उस हमलावर को महान बता रहे हैं। ऐसे ही सिरफिरे ने दो-दो प्रधानमंत्रियों पर हमला करके उन्हें शहीद कर दिया।

राबड़ी देवी की अपील में साफ है कि लोकतंत्र में हिंसा का कोई स्थान नहीं हैं। राबड़ी देवी की अपील में लोकतांत्रिक नेता के साथ एक महिला की भावना भी प्रकट हुई कि कोई भी हिंसा लोकतंत्र को कमजोर करेगा।

इस बीच खबर है कि सीएम की सुरक्षा में चूक मामले में ड्यूटी पर तैनात सुरक्षा कर्मियों पर कार्रवाई होगी। गृह विभाग ने पुलिस मुख्यालय से रिपोर्ट मांगी है। रिपोर्ट मिलने के बाद कार्रवाई तय मानी जा रही है।

पत्रकार प्रशांत टंडन ने कहा-सर्राफा व्यापारी शंकर कुमार ने नितीश कुमार को धक्का दिया गलत किया – लेकिन शंकर के कारण होंगे? 2009 में प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकार जरनैल सिंह ने कैबिनेट मंत्री चिदंबरम पर जूता फेंका था. उस वक़्त सुरक्षा में चूक की बजाय जरनैल के कारणों पर ही चर्चा हुई थी।

नया दौर : इंदौर, दिल्ली में संविधान पर चर्चा की नहीं मिली इजाजत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*