नीतीश ने पाला बदला, तो BJP के 30 विधायक RJD में जाएंगे

नीतीश ने पाला बदला, तो BJP के 30 विधायक RJD में जाएंगे

नीतीश ने पाला बदला, तो BJP के 30 विधायक RJD में जाएंगे। नीतीश के एनडीए में जाने की खबरों से भाजपा में खलबली। जाति गणना के नायक बन कर उभरेंगे तेजस्वी।

मीडिया में बुधवार सुबह से एक खबर अचनाक चलने लगी कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक बार फिर से पाला बदलनेवाले हैं। इस खबर से भाजपा में खलबली मच गई। खासकर पिछड़ी और अतिपिछड़ी जाति के विधायक खासे परेशान हो उठे। भाजपा के कई विधायकों ने नौकरशाही डॉट कॉम को बताया कि अगर नीतीश कुमार पाला बदल कर एनडीए में आते हैं, तो पार्टी के 30 से ज्यादा पिछड़ी-अतिपिछड़ी जाति और कुछ अन्य विधायक राजद में चले जाएंगे।

यह पूछे जाने पर कि भाजपा के पिछड़े-अतिपिछड़े विधायक आखिर राजद में क्यों जाएंगे के जवाब में विधायकों ने कहा कि मुख्य मुद्दा जाति गणना है। अगर नीतीश कुमार एनडीए में आ जाते हैं, तो तेजस्वी यादव अकेले ही जाति गणना के नायक बन जाएंगे। पिछड़ों-अतिपिछड़ों का झुकाव पूरी तरह राजद की तरफ हो जाएगा। इससे भाजपा के पिछड़े-अतिपिछड़े विधायकों का जीतना कठिन हो जाएगा। भाजपा विधायकों ने कहा कि वे जाति गणना के कारण पहले से अपने समाज में सवालों का सामना कर रहे हैं। अगर नीतीश कुमार एनडीए में आ गए, तो जाति गणना, आरक्षण में वृद्धि का सारा श्रेय अकेले तेजस्वी यादव ले जाएंगे। उस स्थिति में वे पिछड़ों के नए नायक बन कर उभरेंगे। पहले ही रोजगार, लाखों की संख्या में नौकरी देने के कारण तेजस्वी के प्रति पिछड़ों-अतिपिछड़ों में आकर्षण बढ़ा है। अगर वे जाति गणना के भी नायक बन गए, तो भाजपा को 2025 विधानसभा चुनाव में भारी नुकसान होगा।

नीतीश कुमार के एनडीए में जाने की खबरों से भाजपा के साथ ही उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोजद तथा चिराग पासवान की पार्टी लोजपा के नेता परेशान दिख रहे हैं। उन्हें अपना टिकट कटने की आशंका सताने लगी है।

नीतीश कुमार के एनडीए में जाने की खबर से भाजपा में परेशानी का ही असर है कि भाजपा सांसद सुशील मोदी ने इस खबर को आधारहीन बताया। कहा कि नीतीश कुमार अपनी पार्टी में फूट न हो, इसलिए भाजपा के साथ जाने की खबर फैला रहे हैं।

राहुल 14 जनवरी से निकालेंगे न्याय यात्रा, 14 राज्यों में जाएंगे