भाजपा के राममंदिर कार्यक्रम में नहीं जाएंगे नीतीश!

भाजपा के राममंदिर कार्यक्रम में नहीं जाएंगे नीतीश!

भाजपा के राममंदिर कार्यक्रम में नहीं जाएंगे नीतीश! मुख्यमंत्री के करीबी मंत्री विजय चौधरी ने इशारों में बता दिया। BLP की बची-खुची उम्मीद पर भी पानी फिरा।

जैसे-जैसे यह साफ होता जा रहा है कि अयोध्या में आधे-अधूरे राममंदिर का उद्घाटन भाजपा का चुनावी कार्यक्रम है, वैसे-वैसे उद्घाटन से दूर रहने वाले दलों की संख्या बढ़ती जा रही है। शंकराचार्यों, विभिन्न राजनीतिक दलों के बाद अब जदयू ने भी स्पष्ट कर दिया कि उसके नेता भाजपा के कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी मंत्री विजय कुमार चौधरी ने मंगलवार को इशारों में बता दिया कि नीतीश कुमार अयोध्या में राममंदिर के बहाने चुनावी माहौल बनाने के भाजपा के प्रयासों का साझीदार नहीं बनेंगे।

जदयू कार्यालय में मंत्री विजय चौधरी से पत्रकारों ने पूछा कि क्या वे अयोध्या में 22 जनवरी को मंदिर के उद्घाटन में शामिल होंगे। इस पर विजय चौधरी ने कहा कि वे बचपन से रामजी की पूजा करते आ रहे हैं। उनके घर में भी राममंदिर है। वे रोज ही पूजा करते हैं। फिर यह क्यों पूछा जा रहा कि वे राममंदिर के उद्घाटन समारोह में शामिल होंगे या नहीं। जाहिर है मंत्री ने स्पष्ट कर दिया कि वे अयोध्या में भाजपा के कार्यक्रम का हिस्सा नहीं बनने जा रहे हैं।

मंत्री विजय चौधरी के जवाब के बाद यह भी माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अयोध्या कार्यक्रम में नहीं जाएंगे। अगर मुख्यमंत्री को जाना होता, तो विजय चौधरी इस तरह कभी जवाब नहीं देते। अगर मुख्यमंत्री जाते, तो साथ में विजय चौधरी भी होते।

इससे पहले जदयू के एक और नेता तथा मंत्री श्रवण कुमार ने भी कहा था कि भाजपा अयोध्या में अधूरे मंदिर का उद्घाटन करके दरअसल भगवान राम का अपहरण करना चाहती है। भाजपा चुनावी फायदे के लिए भगवान का नाम इस्तेमाल कर रही है। भाजपा को न तो राम से मतलब है और न ही देश की जनता से। अब श्रवण कुमार के बाद विजय चौधरी के बयान से स्पष्ट है कि नीतीश कुमार अयोध्या में भाजपा के कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे।

यह खबर भाजपा और गोदी मीडिया के लिए झटका देने वालाी है। भाजपा और गोदी मीडिया रोज हीखबर उड़ाते हैं कि नीतीश कुमार एनडीए में आने वाले हैं। अगर वे अयोध्या जाते, तो मीडिया के लिए बड़ा मसाला मिल जाता, लेकिन अब उसकी उम्मीदों पर पानी फिर गया है।

तेजस्वी ने किया नेशनल क्रिकेट का उद्घाटन, बताई क्रिकेट फिलॉसफी