रेल हादसा : केंद्रीय मंत्री गिरिराज की ओछी टिप्पणी पर राजद गरम

रेल हादसा : केंद्रीय मंत्री गिरिराज की ओछी टिप्पणी पर राजद गरम। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने की सहायता की घोषणा तो केंद्रीय मंत्री ने दिया हिंदू-मुस्लिम रंग।

बिहार के बक्सर के निकट हुई रेल दुर्घटना को केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने हिंदू-मुस्लिम रंग दे दिया। हुआ ये कि मुख्यंमत्री नीतीश कुमार ने रेल हादसे में मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख तथा घायलों को 50-50 हजार रुपए देने की घोषणा की। इस पर भाजपा नेता तथा केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कह दिया कि मुख्यमंत्री खैरात न बांटें। यही नहीं, केंद्रीय मंत्री ने यहां तक कह दिया कि मुख्यमंत्री की संवेदना तब जगती है, जब मस्जिद और मुसलमान का मामला हो। हिंदुओं के लिए उनकी संवेदना नहीं जगती है। केंद्रीय मंत्री की इस टिप्पणी पर राजद ने कड़ा प्रतिवाद किया है।

राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने कहा कि केंद्रीय मंत्री के शब्दों से दुर्गंध आती है। उन्होंने कहा कि रघुनाथपुर रेल दुर्घटना में पीड़ित परिवारों को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा मुआवजा दिए जाने की घोषणा पर केंद्रिय मंत्री गिरिराज सिंह द्वारा दिए गए बयान को मानवीय संवेदना के खिलाफ बताते हुए कहा कि गिरिराज सिंह जी जो भी बोलते हैं, उनके शब्दों से दुर्गंध हीं निकलती है।

राजद प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा नेताओं की संवेदना मर चुकी है। जिस रेल दुर्घटना पर भाजपा नेताओं को सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए उस पर भी घटिया बयानबाजी उनके पतन का नमूना है। राजद प्रवक्ता ने कहा कि देश में लगातार बढ़ रही रेल दुर्घटनाएं केन्द्र सरकार की विफलता है। कल रात बक्सर जिले के रघुनाथपुर में हुए रेल दुर्घटना की जानकारी ज्यों हीं स्थानीय प्रशासन को हुई तत्काल पुरा महकमा बचाव कार्य में लग गया। केरल में रहने के बावजूद उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को ज्यों ही घटना की जानकारी हुई उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव को स्वयं मोनिटरिंग करने को कहा। इतना हीं नहीं उन्होंने राजद के स्थानीय नेताओं को तत्काल घटना स्थल पर जाकर बचाव कार्य में प्रशासन को सहयोग करने का निर्देश दिया। जिला प्रशासन की देखरेख में त्वरित कार्रवाई करते हुए सभी घायलों को स्थानीय अस्पताल से लेकर पटना के अस्पतालों में उनके बेहतर इलाज की व्यवस्था की गई जिससे मृतकों की संख्या चार से आगे नहीं बढ़ी। पीड़ितों को मुआवजा देना रेलवे के क्षेत्राधिकार में होने के बावजूद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी द्वारा मानवीय संवेदना दिखलाते हुए मृतकों एवं घायलों को राज्य सरकार द्वारा मुआवजा देने की घोषणा की गई है। जिस पर केन्द्रीय मंत्री द्वारा निम्न स्तरीय भाषा का इस्तेमाल करना शर्मनाक और गैर जिम्मेदाराना है।

उमर खालिद को जमानत की उम्मीद, एक नवंबर को होगी सुनवाई

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420