रामदेव के दंतमंजन में मछली का अंश, भेजा लीगल नोटिस

टूथपेस्ट में नमक है, तो सुना था, पर रामदेव के दंतमंजन में मछली का अंश है, यह देश पहली बार सुना गया। पतंजलि को लीगल नोटिस भेजा गया है।

रामदेव के दंतमंजन में मछली का अंश है। इस आरोप के बाद उनकी कंपनी पतंजलि को लीगल नोटिस भेजा गया है। दंतमंजन में मछली का अंश मिलने की जानकारी कैसे मिली, यह भी रोचक है। टूथपेस्ट में नमक है, तो सुना था, पर दंतमंजन में मछली से हंगामा हो गया है।

पतंजलि के दिव्य दंतमंजन में मछली के इस्तेमाल की जानकारी एक उपभोक्ता को दंतमंजन के ऊपर दी गई सूचना से मिली। दंतमंजन के कवर पर सूचना दी गई है कि इसमें किन-किन तत्वों का मिश्रण है। यहीं पर लिखा है कि दिव्य दंतमंजन में समुद्र फेन (Samudra Phen) का इस्तेमाल किया गया है। विवरण में यह भी लिखा है कि दंतमंजन में सेपिया औफिसिनलिस (Sepia Officinalis) के अंश भी मिलाए गए हैं। इसके बाद उपभोक्ता की उत्सुकता जगी कि ये सेपिया औफिसिनलिस है क्या। उसने रिसर्च किया तो मालूम हुआ कि यह तो एक समुद्री जीव का नाम है, जो समुद्री मछली की तरह ही है।

ग्राउंड रिपोर्ट की खबर के अनुसार अधिवक्ता शाशा जैन ने ट्वट करके इस मामले को सार्वजनिक किया कि दंतमंजन में मछली के अंश हैं। अभी तक पतंजलि की तरफ से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है, लेकिन इस खबर से रामदेव के प्रोडक्ट पर आंख मूंद कर विश्वास करने वाले लोगों में हड़कंप मच गया है। इससे पहले कई देशों में रामदेव की कंपनी पतंजलि के प्रोडक्ट पर विवाद हो चुके हैं।

शाशा जैन ने ट्वीट किया-पतंजलि को लीगल नोटिस भेजा गया। कंपनी से दिव्य दंतमंजन में Samudra phen (cuttlefish) के इस्तेमाल के बारे में स्पष्टीकरण मांगा गया है। यह जानना उपभोक्ता का अधिकार है। मछली का होना हम शाकाहारियों के जीवनचर्या पर हमला है।

चुने गए कर्नाटक के CM, कांग्रेस में जोश क्यों, भाजपा बेहोश क्यों?

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420