फतेहपुर सिकरी से कांग्रेस प्रत्याशी रामनाथ सिकरवार देश में सबसे अलग तरह के प्रत्याशी हैं। वे हमेशा फौजी वाले ड्रेस में रहते हैं। उन्हें लोग फौजी बाबा कहते हैं। मंदिर में रहते हैं और अपनी रोटी खुद बनाते हैं। साइकिल से चुनाव प्रचार करते हैं। अपना नामांकन करने भी साइकिल से ही गए थे। उनके पास हमेशा एक बाल्टी रहती हैं। किसी गांव में पहुंचने के बाद वे जमीन पर बाल्टी रख देते हैं। उसमें गांव के लोग जो अनाज या पैसा जो भी डाल देते हैं, उसी से चुनाव प्रचार करते हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने राहुल गांधी के नामांकन के बाद इस फौजी बाबा के लिए रोड शो किया। रोड शो में भारी भीड़ उममड़ी।

सिकरवार की ईमानदारी और सादगी चर्चा में है, लेकिन उनकी दूसरी विशेषता यह है कि वे हमेशा जनता के बीच सक्रिय रहते हैं। कोर्ट-कचहरी से लेकर सरकारी कार्यालयों में जनता का काम कराने के लिए दिन रात जुटे रहते हैं। सरकारी दफ्तरों में भ्रष्टाचार के खिलाफ वे हमेशा मुखर रहते हैं।

वे राजनीति में आने से पहले सेना में थे। कारगील युद्ध में शामिल थे। वर्ष 2004 में सेना से रिटायर होने के बाद से ही जनता में सक्रिय हैं। कांग्रेस ने उन्हें विधानसभा चुनाव में भी प्रत्याशी बनाया था। सिर्फ एक फीसदी वोट के अंतर से वे विधानसभा चुनाव हार गए थे।

PM हिंदू, राष्ट्रपति हिंदू, सेनाध्यक्ष हिंदू, फिर हिंदू खतरे में कैसे : तेजस्वी

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को रामनाथ सिकरवार उर्फ फौजी बाबा के लिए रोड शो किया। रोड शो में भारी भीड़ उमड़ी। प्रियंका ने कहा कि समय आ गया है..सच्चाई को समझने का, सच्चे नेताओं को पहचानने का, नाटक और नौटंकी बंद करने का। समय आ गया है.. बदलाव लाने का। PM मोदी को सत्ता का इतना अहंकार हो गया है कि वे जनता से दूर हो चुके हैं। उनके आसपास के लोग भी उनसे डरते हैं, वे नरेंद्र मोदी को देश की सच्चाई नहीं बताते। वहीं दूसरी तरफ राहुल गांधी हैं, जिन्होंने आपसे मिलने के लिए हजारों किलोमीटर की यात्रा की। आपकी समस्याओं को सुनकर एक ‘न्याय पत्र’ निकाला। क्योंकि पिछले 10 साल में देश के गरीब, मजदूर और किसानों के साथ भयंकर अन्याय हुआ है।

केजरीवाल को मिल सकती है जमानत, भाजपा की बढ़ी चिंता

By Editor