रिवाल्वर सटाकर मांगे हजार रुपए, दो सौ दिए तो मार दीं 5 गोलियां

रिवाल्वर सटाकर मांगे हजार रुपए, दो सौ दिए तो मार दीं 5 गोलियां

पटना में रंगदारी और वसूली तेजी से बढ़ रही है। आज सुबह-सुबह अपराधियों ने रंगदारी में हजार रुपए मांगे, दुकानदार ने दो सौ दिए, तो मार दीं पांच गोलियां। मौत।

बिहार में डबल इंजन की सरकार में अपराधियों का मनोबल भी डबल हो गया है। दानापुर में जदयू नेता और बिजनेसमैन दीपक मेहता की हत्या के 36 घंटे के भीतर आज बुधवार को सुबह-सुबह पटना सिटी में रंगदारी नहीं देने पर एक व्यवसायी को अपराधियों ने गोली मार दी। व्यवसायी की वहीं मौत हो गई।

मिल रही खबरों के अनुसार पटना सिटी के च्छरहट्टा गली में प्रमोद बागला अपने बेटे और स्टाफ के साथ दुकान में थे। इसी बीच दो बाइक पर चार अपराधी आए। लोगों से मिली जानकारी के अनुसार अपराधियों ने एक हजार रुपए की मांग की। दुकान में काम करनेवाले स्टाफ ने दो सौ रुपए दिए, तो अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। इसमें पांच गोली प्रमोद बागला को लगी। दो गोली स्टाफ और दुकानदार बागला के बेटे गोलू को लगी। प्रमोद की वहीं मौत हो गई। स्टाफ और बेटा बुरी तरह घायल हो गए हैं।

घटना की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में दुकानदार और आम लोग जमा हो गए। लोगों ने सड़क को पूरी तरह जाम कर दिया। लोग प्रशासन के विरोध में नारे लगा रहे थे। पुलिस ने मुश्किल से शव को अपने कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

इससे पहले सोमवार की रात दानापुर नगर परिषद के उपाध्यक्ष और जदयू नेता दीपक मेहता की अपराधियों ने खुलेआम गोली मार कर हत्या कर दी थी। दीपक मेहता की हत्या भी बाइक से आए अपराधियों ने की थी। हत्या के बाद दूसरे दिन मंगलवार को जदयू नेता उपेंद्र कुशवाहा परिजनों से मिलने पहुंचो, तो उन्हें आम लोगों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा था।

औरतों की नीलामी करनेवाले को बेल, पीड़ित महिलाओं ने उठाए सवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*