राजद में दिखा जोश, वोट से ज्यादा बना दिए 1.6 करोड़ सदस्य

राजद में दिखा जोश, वोट से ज्यादा बना दिए 1.6 करोड़ सदस्य

राजद को 2020 चुनाव में 97,388,55 वोट मिले थे। दो साल बाद कार्यकर्ताओं ने बना दिए लक्ष्य से अधिक 1.6 करोड़ सदस्य। सामाजिक आधार में विस्तार का प्रमाण।

राजद के राष्ट्रीय मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी उदय नारायण चौधरी के अनुमोदन के पश्चात सांगठनिक वर्ष 2022-2025 के लिए राजद सदस्यों की सूची का प्रकाशन कर दिया गया है। प्रकाशित सूची के‌ अनुसार नवीनीकृत और पहली बार बनाये गये सदस्यों को मिलाकर सांगठनिक वर्ष 2022-2025 के लिए कुल 1,05,97,009 सदस्य बनाए गए हैं जो निर्धारित लक्ष्य एक करोड़ से लगभग 6 लाख अधिक ही है।

पार्टी के सहायक राष्ट्रीय मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी चित्तरंजन गगन ने बताया कि गत 12 फरवरी 2022 को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद जी द्वारा सदस्यता अभियान की शुरुआत की गई थी । सदस्यों की भर्ती की अन्तिम तिथि 30 जून 2022 निर्धारित किया गया था। जिसे बढ़ाकर 15 जुलाई 2022 कर दिया गया था। पार्टी नेतृत्व द्वारा कम से कम एक करोड़ सदस्य बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। उप मुख्यमंत्री‌ तेजस्वी यादव और प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के सतत् प्रयास का‌ परिणाम है कि सदस्यों की संख्या लक्ष्य से भी ज्यादा पहुंच गया है। बिहार में नवीनीकृत और नये बनाए गए सदस्यों की कुल संख्या 98,64,203 है , जबकि झारखंड सहित अन्य दूसरे प्रदेशों में नवीनीकृत और नये बनाए गए सदस्यों की कुल संख्या 7,32,806 है।

गगन ने बताया कि सदस्यों की सूची प्रकाशन के साथ हीं सांगठनिक चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारीयों और‌ सहायक जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को मातहत ईकाईयों में चुनाव पदाधिकारी मनोनीत कर राष्ट्रीय कार्यकारिणी द्वारा निर्धारित कार्यक्रमों के अनुसार संवैधानिक और पारदर्शी तरीके से चुनाव सम्पन्न कराने की जिम्मेदारी दी गई है।

गगन ने बताया कि 16 अगस्त के पूर्व बिहार के सभी 534 प्रखंडों, 3320 वार्डों और 8463 पंचायतों में चुनाव पदाधिकारी मनोनीत कर दिए जाएंगे और 16 अगस्त से 12 सितंबर के बीच प्रारम्भिक इकाई ( बुथ कमिटी ) , पंचायत इकाई , प्रखंड इकाई और जिला इकाई का चुनाव सम्पन्न हो जाएगा। सभी राज्यों में 14 सितंबर से प्रदेश इकाई के चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो जायेगी और 21सितंबर को सभी प्रदेशों में प्रदेश अध्यक्ष, प्रदेश कार्यकारिणी और राष्ट्रीय परिषद के सदस्यों का चुनाव होगा।

गगन ने बताया कि इस बार सदस्यता अभियान की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि राजद की सदस्यता ग्रहण करने वालों में नौजवानों की संख्या सबसे अधिक है। और हर वर्ग और समुदाय के लोगों ने राजद की सदस्यता ली है।

भाजपा की दबाव की राजनीति का सामना करके मजबूत हुए तेजस्वी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*