राज्यसभा सदस्य और आम आदमी पार्टी के नेता Sanjay Singh को मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिल गई। कोर्ट ने ED को फटकार भी लगाई। सुप्रीम कोर्ट ने ईडी से पूछा ‘आखिर संजय सिंह को अब भी जेल में रखने की जरूरत क्यों है? जमानत मिलने के बाद देशभर से इंडिया गठबंधन के विभिन्न दल बधाई दे रहे हैं।

याद रहे Sanjay Singh प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों के खिलाफ सबसे मुखर रहे हैं। अडानी मामले पर भी संजय सिंह मुखर रहे हैं। उनके जेल से बाहर आने के बाद आप का चुनावी अभियान तेज होगा। यही नहीं, माना जा रहा है कि Sanjay Singh को जमानत मिलने के बाद अब जेल में बंद दिल्ली के मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को भी जमानत मिल सकती है।

दरअसल ED ने Sanjay Singh पर आरोप लगाया था कि अपने एक करीबी के माध्यम से उन्होंने शराब कारोबारियों से अवैध धन की उगाही की थी। हालांकि शुरुआती प्राथमिकी में संजय सिंह का नाम नहीं था। आप नेत्री पी कक्पड़ ने कहा-आज भगवान हमारे साथ हैं, बजरंग बली हमारे साथ हैं, सत्य की जीत हुई है। हम शुरू से कह रहे थे कि यह पूरा मामला फर्जी है और भाजपा कार्यालय में लिखा गया है। करीब 500 छापेमारी के बाद भी एक पैसा बरामद नहीं हुआ। आज सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा कि जब कोई मनी ट्रेल नहीं मिला तो उसे हिरासत में रखने का क्या मतलब है! Money Trail ज़रूरी मिली है जब शरथ चंद्र रेड्डी ने BJP को 60 करोड़ की रिश्वत दी तो क्या अब BJP के बड़े लीडर गिरफ़्तार होंगे

डबल इंजन सरकार में बेरोजगार हो गए 4257 शिक्षक, प्रदर्शन

जेल में बंद झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन ने कहा-तानाशाही ताकतों का किला ध्वस्त होना शुरु हो गया है। आप नेता और राज्यसभा सांसद श्री संजय सिंह जी ने अन्यायपूर्ण कारावास के खिलाफ एक बड़ी जंग जीती है। यह सत्य और संघर्ष की जीत है, यह INDIA की जीत है। श्री संजय सिंह जी, उनकी धर्मपत्नी श्रीमती अनिता सिंह जी तथा उनके परिवारजनों को हार्दिक बधाई और जोहार।

Kushwaha को दरकिनार करने की खामियाजा भुगत सकता है NDA

By Editor