सतपाल मलिक के यहां CBI छापा, पहले ही जताई थी आशंका

सतपाल मलिक के यहां CBI छापा, पहले ही जताई थी आशंका। पुलवामा में आतंकी हमले की बता चुके हैं सच्चाई। किसान, महिला पहलवानों का भी किया समर्थन।

सच बोलने पर आरोपियों को पकड़ने के बजाय सच बोलनेवाले के घर ही सीबीआई का छापा पड़ गया। पूर्व राज्यपाल सतपाल मलिक अस्पताल में भर्ती हैं, इसी बीच उनके घर गुरुवार को सीहबीआी का छापा पड़ गया। उन्होंने पहले ही आशंका जताई थी कि उनके घर सीबीआई का छापा पड़ सकता है। पूर्व राज्यपाल ने पुलवामा में आतंकी हमले के पीछ सरकार की विफलता का राज खोला था। अर्धसैनिक बल को केंद्र सरकार ने हेलिकॉप्टर नहीं दिया था, जिससे उन्हें सड़क हो कर जाना पड़ा। आज तक पुलवामा आतंकी हमले में बड़ी मात्रा में विस्फोटक कहां से आया, सड़क को फुल फ्रूफ क्यों नहीं किया गया जैसे सवालों का जवाब आज तक केंद्र सरकार नहीं दे पाई है। वे किसान आंदोलन के पक्ष में लगातार बोलते रहे हैं और महिला पहलवानों के यौन उत्पीड़न के खिलाफ भी सक्रिय रहे। सतपाल मलिक ने यह भी कहा था कि अगर मोदी सरकार को जनता ने नहीं हराया, तो देश में लोकतंत्र खत्म होजाएगा। ये लोग चुनाव जीतने के लिए कुछ भी कर सकते हैं।

सतपाल मलिक ने सीबीआई छापे के बाद कहा मैंने भ्रष्टाचार में शामिल जिन व्यक्तियों की शिकायत की थी की उन व्यक्तियों की जांच ना करके मेरे आवास पर CBI द्वारा छापेमारी की गई है। मेरे पास 4-5 कुर्ते पायजामे के सिवा कुछ नहीं मिलेगा। तानाशाह सरकारी एजेंसियों का ग़लत दुरुपयोग करके मुझे डराने की कोशिश कर रहा है। मैं किसान का बेटा हूं, ना में डरूंगा, ना झुकूंगा। उन्होंने कहा कि पिछले 3-4 दिनों से मैं बिमार हूं ओर हस्पताल में भर्ती हूं। जिसके वावजूद मेरे मकान में तानाशाह द्वारा सरकारी एजेंसियों से छापे डलवाएं जा रहें हैं। मेरे ड्राईवर, मेरे साहयक के ऊपर भी छापे मारकर उनको बेवजह परेशान किया जा रहा है। में किसान का बेटा हूं, इन छापों से घबराऊंगा नहीं। में किसानों के साथ हूं।

राहुल गांधी ने कहा किसान MSP मांगें, तो उन्हें गोली मारो – ये है मदर ऑफ डेमोक्रेसी? जवान नियुक्ति मांगें, तो उनकी बातें तक सुनने से इनकार कर दो – ये है मदर ऑफ डेमोक्रेसी? पूर्व गवर्नर सच बोलें, तो उनके घर CBI भेज दो – ये है मदर ऑफ डेमोक्रेसी? सबसे प्रमुख विपक्षी दल का बैंक अकाउंट फ्रिज़ कर दो- ये है मदर ऑफ डेमोक्रेसी? धारा 144, इंटरनेट बैन, नुकीली तारें, आंसू गैस के गोले – ये है मदर ऑफ डेमोक्रेसी? मीडिया हो या सोशल मीडिया, सच की हर आवाज़ को दबा देना – ये है मदर ऑफ डेमोक्रेसी? मोदी जी, जनता जानती है कि आपने लोकतंत्र की हत्या की है और जनता जवाब देगी!

कांग्रेस के खाते से 65 करोड़ निकालना अलोकतांत्रित : माकन

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420