जदयू विधानपार्षद के गांव पहुंचे तेजस्वी, पालतू मीडिया के होश उड़े

जदयू विधानपार्षद के गांव पहुंचे तेजस्वी, पालतू मीडिया के होश उड़े

जदयू विधानपार्षद के गांव पहुंचे तेजस्वी, पालतू मीडिया के होश उड़े। गठबंधन टूटने की फर्जी खबर चलानेवाले परेशान। तेजस्वी के जाने के सियासी मायने भी हैं।

आज पालतू मीडिया की फिर फजीहत हो गई। इंडिया गठबंधन में टूट और नीतीश कुमार के भाजपा के साथ जाने की फर्जी खबर चलाने वाले मीडिया को एक बार फिर फिर झटका लगा। उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव शनिवार को जदयू के विधान पार्षद नीरज कुमार के मोकामा स्थित गांव पहुंचे। पिछले 9 जनवरी को विधान पार्षद नीरज कुमार की माता सुधा सिन्हा का देहांत हो गया था। उन्होंने पटना के कंकड़बाग स्थित हेरिसन हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली। वे 27 दिसंबर 2023 से आईसीयू में भर्ती थीं।

उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव शनिवार को नीरज कुमार के मोलदियार (मोकामा) स्थित गांव पहुंचे और श्रद्धांजलि कार्यक्रम में शामिल हुए। उपमुख्यमंत्री ने भी अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

तेजस्वी यादव का जदयू विधान पार्षद के दुख में शामिल होना खास मायने रखता है। तई बार राजनीतिक दलों में ऊपर नेता के स्तर पर एकता हो जाती है, लेकिन नीचे कार्यकर्ताओं में एकता नहीं बन पाती है। ऊपर राजद और जदयू के नेता इंडिया गठबंधन में एक साथ हैं, लेकिन तेजस्वी यादव जिस तरह जदयू नेता के घर पहुंचे उससे रिश्ता सिर्फ राजनीतिक नहीं रहा। उनके जाने से राजद और जदयू कार्यकर्ताओं में भी एक दूसरे के सुख-दुख में शामिल होने का सिलसिला बढ़ेगा, जो आपसी संबंध को मजबूती देगा।

खुद तेजस्वी यादव ने जदयू विधान पार्षद नीरज कुमार के गांव पहुंचने की जानकारी दी। राजद ने ट्वीट किया-जनता दल यूनाइटेड के माननीय बिहार विधान परिषद सदस्य श्री नीरज कुमार जी की माता जी के श्राद्ध कार्यक्रम में माननीय उप मुख्यमंत्री श्री #तेजस्वी #यादव जी सम्मिलित हुए और माता जी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

इसी के साथ गोदी मीडिया के लिए नई परेशानी आ गई है। यह मीडिया दो दिनों से जदयू और राजद का गठबंधन टूटने की भविष्यवाणी कर रहा था, अब वह किस प्रकार बताए कि तेजस्वी यादव नीरज कुमार के गांव पहुंच गए। इसीलिए पालतू मीडिया इस खबर को दबाने में लगा है। तेजस्वी यादव का नीरज कुमार के गांव पहुंचना इस बात का प्रमाण है कि पालतू मीडिया की टूट वाली खबर फर्जी थी। दोनों दलों में रिश्ते अच्छे हैं बल्कि बेहतर हो रहे हैं। तेजस्वी यादव के मोकामा पहुंचने की खबर आसपास के गांवों में भी फैल गई है। अब स्थानीय राजद नेता भी जदयू विधान पार्षद के गांव पहुंचेंगे।

पालतू मीडिया जो भी कहे, इन तीन कारणों से BJP संग नहीं जाएंगे नीतीश