उर्दू स्कूलों में छुट्टी पर BJP के सवाल पर कुशवाहा का करारा जवाब

उर्दू स्कूलों में छुट्टी पर BJP के सवाल पर कुशवाहा का करारा जवाब

भाजपा उर्दू स्कूलों में साप्ताहिक छुट्टी शुक्रवार को दिए जाने से नाराज। जब भाजपा सांसद राकेश सिन्हा भी बोले, तो जदयू के उपेंद्र कुशवाहा ने दिया करारा जवाब।

किशनगंज के मुस्लिम बहुल इलाकों में स्कूलों में साप्ताहिक छुट्टी शुक्रवार को रहती है। इसे भाजपा के कई नेताओं ने मुद्दा बनाया। भाजपा सांसद राकेश सिन्हा ने भी जब इस सवाल को उठाया, तो जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष और विधान पार्षद उपेंद्र कुशवाहा ने करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा सांसद बिना मतलब तूल दे रहे हैं। उन्हें पता होना चाहिए कि संस्कृत महाविद्यालयों में हर महीने प्रतिपदा और अष्टमी को छुट्टी रहती है। उपेंद्र कुशवाहा ने अपनी बात का प्रमाण देते हुए इन कॉलेजों में लागू कैलेंडर को भी शेयर किया।

उपेंद्र कुशवाहा ने लगातार कई ट्वीट करके भाजपा सांसद और दूसरे नेताओं को जवाब दिया। उन्होंने कहा-उर्दू विद्यालयों में छुट्टी: वाकई जरुरी मुद्दा है या अनावश्यक विवाद बनाने की कोशिश..! छुट्टी पर आपत्ति करने वाले महानुभावों, आप सभी को पता तो होना चाहिए कि शुक्रवार को सिर्फ उर्दू विद्यालयों में ही अवकाश नहीं होता है, संस्कृत महाविद्यालयों में भी प्रत्येक महिना के प्रतिपदा और अष्टमी को छुट्टी रहती है। नहीं मालूम है तो संस्कृत विश्वविद्यालय के इस कैलेंडर का अवलोकन कर अपना ज्ञान बढाईए, प्लीज़। वैसे, सिर्फ मुद्दा बनाने के इरादे से बयानबाजी करनी है तो और बात है।

जदयू के वरिष्ठ नेता उपेंद्र कुशवाहा जोर देकर कहा-“सिर्फ मुद्दा बना कर हंगामा खड़ा करना हमारा (नेताओं का) मकसद नहीं। कोशिश रहे कि सच्चाई बता कर तिरंगे का मान बढ़ाना चाहिए।” अगर आप संस्कृत महाविद्यालयों का कैलेंडर देखना चाहते हैं और विस्तार से जानना चाहते हैं, तो जदयू नेता के ट्विटर हैंडल पर जाएं। उपेंद्र कुशवाहा के जवाब को लोग महत्वपूर्ण मान रहे हैं। जदयू कार्यकर्ताओं ने कहा कि हम सरकार साथ चला रहे हैं, लेकिन बांटनेवाली राजनीति को बिहार में सफल नहीं होने देंगे।

RJD सांसद ने की जरूरी मांग, पर भाजपा कभी तैयार नहीं होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*