ये है इंडिया, दिलों में है प्रेम, भाईचारा ही है भारत की आत्मा

ये है इंडिया, दिलों में है प्रेम, भाईचारा ही है भारत की आत्मा

न्यूज एजेंसी पीटीआई के फोटो जर्नलिस्ट हैं मानवेंद्र वशिष्ठ लव। उनके ट्विटर हैंडल पर ऐसी तस्वीरों की कतार है, जो प्रेम और भाइचारे का संदेश दे रहे हैं।

कुमार अनिल

पीटीआई के चीफ फोटो जर्नलिस्ट हैं @ManvenderVLav। उनके ट्विटर हैंडल पर जरूर जाइए। वहां आपको मिलेंगी सावन में हिंदू-मुस्लिम एकता की दास्तां बताती अनेक तस्वीरें। उन्होंने पूर्वी दिल्ली के मौजपुर की अनेक तस्वीरें शेयर की हैं, जिन्हें इलेक्ट्रानिक मीडिया शायद ही कभी दिखाए। ऊपर की तस्वीर को गौर से देखिए। सेल्फी लेता मुस्लिम युवा और कांवर ले जाता हिंदू युवा किस भाव से मिल रहे हैं। प्रेम और सद्भाव उनकी आंखें बता देती हैं।

मानवेंद्र के ट्विटर हैंडल पर मौजपुर की कई तस्वीरें हैं, जिसमें बड़ी संख्या में मुस्लिम कांवर लेकर यात्रा पर निकले भाइयों पर फूल बरसा रहे हैं। कहीं उन्हें पानी पीने के लिए दे रहे हैं। कांवर यात्री भी खुशी-खुशी मुस्लिम भाइयों के हाथ से पानी ले रहे हैं।

मानवेंद्र की इन तस्वीरों की लोगों ने खूब सराहना की है। किसी ने लिखा है कि असली भारत यही है। भारत को बांटना मुश्किल है क्योंकि प्रेम और भाईचारा हमारी रगों में बहता है। एनडीटीवी के पत्रकार उमाशकंर सिंह ने लिखा-ये है इंडिया। विपिन राठौर ने मानवेंद्र की एक दूसरी तस्वीर के साथ लिखा-ऐसा देश है मेरा!!

हालांकि कई लोगों ने देश में बढ़ते भेदभाव को भी याद दिलाया है। इसार सिद्दीकी ने लिखा-ये ही तो इंडिया है ! जहा एक तरफ फूल बरसाए जा रहे हैं ! दूसरी तरफ नमाज पढने पर जेल जा रहे हैं !

संदीप शुक्ला ने लिखा-सर किसी की नजर लग गयी है पर सुकून भरी तस्वीर। मो. शाहनवाज ने लिखा-बहुत खूबसूरत लाईन, लाजवाब। प्रेम प्रकाश मिश्रा ने लिखा-गंदी सियासत करने वाले राजनीतिज्ञों के मुंह पर जोरदार तमाचा है यह फोटो, इस सौहार्द को राजनीतिक दलदल खत्म नहीं कर पाएगा। राजेश ने लिखा-भैया ये तो ऐसे ही था.. और रहना चाहता है बस कुछ लोगों को ये रास नहीं आता.. तो आग लगाने का काम कर देते हैं..।

जदयू में 56 और नए पदाधिकारी बने, इनमें 12 कुर्मी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*