युवा क्रिकेटरों ने दिया नारा- जस्टिस फॉर ईशान, जय शाह खोलो कान

युवा क्रिकेटरों ने दिया नारा- जस्टिस फॉर ईशान, जय शाह खोलो कान

बिहार के लाल ईशान के साथ सौतेला व्यवहार अब मुद्दा बन गया है। पटना में युवा क्रिकेटरों ने लगाए नारे-जस्टिस फॉर ईशान, जय शाह खोलो कान।

बिहार के लाल और देश का मान बढ़ानेवाले युवा क्रिकेटर ईशान किशन के बेहतर प्रदर्शन के बावजूद उन्हें भारतीय टीम में शामिल नहीं किया जाना अब मुद्दा बन गया है। पटना में आज गुरुवार को युवा क्रिकेटरों ने लगाए नारे-जस्टिस फॉर ईशान, जय शाह खोलो कान।

राजधानी पटना के शहीद वीर कुंवर सिंह आज़ादी पार्क (हार्डिंग पार्क) स्थित सरदार पटेल क्रिकेट एकेडमी के क्रिकेट खिलाड़ियों, खेल प्रेमियों और पूर्व क्रिकेटरों ने आगामी 16 अक्टूबर से ऑस्ट्रेलिया में आयोजित होने वाली आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप के लिए ईशान किशन को भारतीय टीम में शामिल नहीं किए जाने पर अनुशासित तरीके से बीसीसीआई से “जस्टिस फॉर ईशान” की गुहार लगाई।

जस्टिस फॉर ईशान कार्यक्रम की अगुवाई कर रहे जदयू कला, संस्कृति एवं खेल प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष सह पूर्व क्रिकेटर व मेंटोर कृष्णा पटेल ने मीडिया को संबोधित करते हुए ईशान किशन द्वारा खेले गए टी-20 इंटरनेशनल कैरियर का आंकड़ा प्रस्तुत करते हुए बताया कि अभी तक ईशान किशन ने कुल- 19 टी-20 इंटरनेशनल मुकाबले खेले हैं जिसमें 131 के स्ट्राइक रेट और 30 से ज्यादा की औसत से कुल 543 रन बनाए हैं जिसमें 4 अर्धशतक शामिल है और यह आंकड़ा बताता है कि टी-20 वर्ल्ड कप के लिए जिन विकेटकीपर बल्लेबाजों को चयन किया गया है उनसे हर क्षेत्र में ईशान किशन का प्रदर्शन सर्वश्रेष्ठ है तो आखिर क्या कारण था जो ऐसे होनहार विकेटकीपर बल्लेबाज को दरकिनार कर दिया गया। जिससे हम सभी बिहारवासी और खेल- प्रेमी अपने- आपको बहुत उपेक्षित महसूस कर रहे हैं।

वहीं हम बात करें एशिया कप की तो इस टूर्नामेंट में भी ईशान किशन को वरीयता नहीं दी गई थी तो हम लोगों को उम्मीद थी कि ऑस्ट्रेलिया में आयोजित होने वाली टी-20 के महाकुंभ में बिहार के लाल को पिछले प्रदर्शन के आधार पर जरूर मौका दिया जाएगा। जबकि जिन विकेटकीपर बल्लेबाजों को एशिया कप में मौका मिला उनका प्रदर्शन क्या रहा यह पूरा देश जान रहा है जिसके कारण भारतीय टीम उम्मीद के अनुसार प्रदर्शन नहीं कर सका और एशिया कप से बाहर हो गई।

ऐसे विफल खिलाड़ियों को टी-20 वर्ल्ड कप में मौका देना और पिछले खेले गए टी-20 मैचों में बेहतर प्रदर्शन करने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज ईशान किशन को सुरक्षित खिलाड़ी में भी जगह नहीं मिल पाना समझ से परे है।
ईशान किशन के आंकड़ों पर नजर डालने के बाद ऐसा लगता है कि बिहार के लाल के साथ कहीं ना कहीं सौतेलापन व्यवहार किया गया है जो कहीं से इस जेंटलमैन गेम के लिए उचित नहीं है।
इसीलिए हम सभी बिहारवासी और खेल प्रेमी “जस्टिस फॉर ईशान” कार्यक्रम के माध्यम से बीसीसीआई के प्रतिष्ठित अध्यक्ष सौरव गांगुली जी, सचिव जय शाह जी सहित बीसीसीआई के सभी शीर्ष पदाधिकारियों एवं चयन समिति से विनम्रता पूर्वक आग्रह कर रहा हूं कि कम से कम ईशान किशन का हौसला बढ़ाने के लिए टी-20 वर्ल्ड कप के लिए घोषित भारतीय टीम में एक सुरक्षित विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर इनका नाम यथासंभव शामिल करने की गुहार लगाता हूं।

जस्टिस फॉर ईशान : जय शाह के खिलाफ बिहार ने खोल दिया मोर्चा

इस मौके पर सरदार पटेल क्रिकेट एकेडमी के खिलाड़ी लव कुश, स्वराज सिंह राठौर, आनंद, विकास कृष्णा, अभिषेक, सुयश, करण, सुमित सिंह, पंकज, अंकित, मंतोष, अंकित, शुभम, विनय, अमन, हिमांशु, आकाश, सत्यजीत, अमन, दीपक, आदित्य, रिशु, ऋषभ, प्रिंस, यशराज, आकर्ष सहित अन्य खिलाड़ी मौजूद थें जिन्होंने “जस्टिस फॉर ईशान” का जोरदार नारा लगाकर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त किया।

केंद्र में गैरभाजपा सरकार बनेगी, तभी बिहार का होगा तीव्र विकास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*