तेजस्वी ने रच दिया इतिहास, NMCH के मेडिकल सुपरिटेंडेंट सस्पेंड

तेजस्वी ने रच दिया इतिहास, NMCH के मेडिकल सुपरिटेंडेंट सस्पेंड


स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव की चेतावनी को हल्के में लेना महंगा पड़ा। कार्य में लापरवाही पर एनएमसीएच के मेडिकल सुपरिटेंडेंट सस्पेंड

बिहार में दशकों बाद किसी मेडिकल कॉलेज-अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट पर इतनी बड़ी कार्रवाई हुई है। कल रात उपमुख्यमंत्री सह स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव जी NMCH का औचक निरीक्षण किया था। आज तेजस्वी यादव ने कार्य में लापरवाही, अपने कर्तव्यों का सही से निर्वहन नहीं करने, प्रशासनिक अक्षमता तथा विभागीय निदेशों की अवेहलना करने के कारण मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉक्टर विनोद कुमार सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। इससे पहले तेजस्वी यादव ने पिछले दिनों पीएमसीएच का भी आधी रात में औचक निरीक्षण किया था। दूसरे दिन स्व्साथ्य विभाग की बैठक में एक महीने में अस्पतालों को दुरुस्त करने का आदेश दिया था।


तेजस्वी यादव ने कल रात नालंदा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल का स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव सहित वरीय अधिकारियों के साथ औचक निरीक्षण किया। वहाँ डेंगू वार्ड का दौरा कर भर्ती मरीजों से बातचीत कर स्वास्थ्य सेवाओं का फ़ीड्बैक लिया।

निरीक्षण के दौरान डेंगू वार्ड में सामान्य मरीज़ भी भर्ती पाए गए। दूसरे वार्डों में मरीज़ों और उनके attendants से खुलकर वार्ता की और कमियों को जाना। साफ-सफाई के फ़्रंट पर सुधार हुआ है लेकिन दवाओं की उपलब्धता होने के बावजूद भी मरीज़ों को दवा नहीं मिलना, बाहर से दवा लाना एवं डॉक्टर-नर्स का गैर-गंभीर व्यवहार एवं चिकित्सा लापरवाही की शिकायत मिली।


उन्होंने कहा कि हमने स्वास्थ्य विभाग की समस्याओं को चुनौती के रूप में लिया है। और निरंतर इसमें सुधार करने की ओर अग्रसर है। इससे पूर्व 5 वर्ष तक लगातार स्वास्थ्य विभाग के मंत्री कभी अस्पतालों का दौरा नहीं करते थे। किसी भी स्वास्थ्य सुविधा और सेवा का जायज़ा नहीं लेते थे। धरातल पर जाकर रोगियों से नहीं मिलते थे।


अगर मुझे ज़मीनी सच्चाई और कमियों का ही नहीं पता होगा तो उन्हें दूर कैसे करूँगा? इसलिए मैं स्वयं धरातल पर जाकर रियल टाइम में निरीक्षण कर, मरीज़ों से मिल ख़ामियों को दूर करने की ईमानदार कोशिश कर रहा हूँ और इसमें हमें अवश्य ही सफ़लता मिलेगी।