22 दिसंबर को हर जिले में INDIA गठबंधन दिखाएगा ताकत

22 दिसंबर को हर जिले में INDIA गठबंधन दिखाएगा ताकत

22 दिसंबर को हर जिले में INDIA गठबंधन दिखाएगा ताकत। बिहार के हर जिले में तैयारी। राजद, जदयू, कांग्रेस तथा वाम दलों के नेताओं की पटना में हुई बैठक।

इंडिया गठबंधन शुक्रवार, 22 दिसंबर, 2023 को बिहार के हर जिले में प्रदर्शन करेगा। प्रदर्शन के लिए राजद, जदयू, कांग्रेस तथा वामदलों ने पूरी तैयारी कर ली है। प्रदर्शन में इन सभी दलों के राज्य स्तरीय नेता शामिल होंगे। कल ही देशभर में भी प्रदर्शन है। बैठक की तैयारी के लिए गुरुवार को पटना स्थित राजद कार्यालय में इंडिया गठबंधन के सभी दलों की बैठक हुई।

इंडिया गठबंधन ने लगभग डेढ़ सौ विपक्षी सांसदों को सदन से निलंबित करने को बड़ा मुद्दा बनाया है। मोदी सरकार पर लोकतंत्र का मजाक बनाने का आरोप लगाया है। कल के प्रदर्शन का यह मुख्य मुद्दा है। इसके अलावा संविधान बचाओ, देश बचाओ, लोकतंत्र पर हमला, लगभग डेढ़ सौ सांसदों को निलंबित करने, विपक्ष की आवाज दबाने के साथ ही महंगाई, बेरोजगारी को बड़ा मुद्दा बनाया है। दो दिन पहले इंडिया गठबंधन की बैठक में देशभर में प्रदर्शन करने का निर्णय लिया गया था। इस प्रदर्शन का महत्व इसलिए ज्यादा है क्योंकि कल पहली बार 28 दल एक साथ सड़क पर उतर कर मोदी सरकार की नीतियों का विरोध करेंगे। यह विरोध प्रदर्शन 2024 लोकसभा चुनाव से पहले विपक्षी दलों के कार्यकर्ताओं को करीब लाएगा। अब तक नेतृत्व के स्तर पर संवाद था। चार बैठकें हो चुकी हैं।

पांच राज्यों के चुनाव के बाद भाजपा और मीडिया ने ऐसा माहौल बनाया कि 2024 में भाजपा की जीत पक्की हो गई है। प्रधानमंत्री मोदी को कोई हरा नहीं सकता। इस नैरेटिव का कल इंडिया गठबंधन जवाब देगा और बताने की कोशिश करेगा कि सारे दल अब एक हैं और हम मिल कर मोदी सरकार को सत्ता से बाहर करेंगे।

राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने कहा कि राजद के प्रदेश कार्यालय में आज इंडिया गठबंधन के घटक दलों की महत्वपूर्ण बैठक राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिंह की अध्यक्षता में हुई। इसमें संसद से सांसदों के अकारण निलम्बन किए जाने की घोर शब्दों में निन्दा की गई और इसे देश के संवैधानिक प्रावधानों और लोकतांत्रिक मर्यादा के खिलाफ तानाशाही कदम बताया गया। बैठक में 19 दिसम्बर को दिल्ली में हुए इंडिया गठबंधन के शीर्ष नेताओं की बैठक में लिए गए निर्णय के आलोक में सांसदों के अकारण निलम्बन के खिलाफ कल 22 दिसम्बर को राज्य के सभी जिला मुख्यालयों पर रोषपूर्ण प्रदर्शन का निर्णय लिया गया।

राजद प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने बताया कि बैठक में जदयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा, सीपीआई ( माले ) के धीरेन्द्र झा, सीपीआई एम के अरुण कुमार, सीपीआई के रामबाबू कुमार एवं कांग्रेस के शकील अहमद खां के साथ हीं राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उदय नारायण चौधरी , राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक एवं राजद के प्रदेश प्रधान महासचिव रणविजय साहू उपस्थित थे।

विक्टिम कार्ड खेल कर धनखड़ खुद फंसे, PM को भी किया अपमानित