बड़ी खबर : केके पाठक ने अपर मुख्य सचिव से त्यागपत्र दिया?

बड़ी खबर : केके पाठक ने अपर मुख्य सचिव त्यागपत्र दिया?

बड़ी खबर : केके पाठक को लेकर खबर वायरल है कि उन्होंने अपर मुख्य सचिव पद से दिया त्यागपत्र दे दिया है। जबकि वास्तविकता कुछ और ही है। जानिए क्या है मामला।

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने अपने पद से त्यागपत्र दे दिया है यह खबर वायरल हो गई है। वे फिलहाल छुट्टी पर चल रहे थे। छुट्टी के दौरान ही उन्होंने पद के परित्याग का पत्र भेजा। उन्होंने परित्याग की कोई वजह नहीं बताई है। इसलिए उनका परित्याग रहस्य बन गया। दरअसल मामला यह है कि जब भी कोई अधिकारी छुट्टी पर जाते हैं, तो वे उतने समय के लिए पद का परित्याग करते हैं। इसके बाद सरकार उनके पद के कार्य के लिए अन्य अधिकारी को प्रभार देती है। इसी कारण उन्होंने पद का परित्याग किया। इसके बाद खबर उड़ गई कि उन्होंने पद से त्यागपत्र दे दिया है। कहा जाने लगा कि उनके एक्शन से कई संगठन, विधायक विरोध जताते रहे हैं। इसीलिए उन्होंने पद का परित्याग किया।

खबर है कि वे 16 जनवरी तक छुट्टी पर थे। इसी बीच वे 9 जनवरी को अपने दफ्तर पहुंचे। वे एक बैठक में भी शामिल हुए। इसके बाद उन्होंने पद से परित्याग का पत्र भेजा। उन्होंने अपना त्यागपत्र सामान्य प्रशासन विभाग को भेजा है।

केके पाठक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रिय आईएएस अधिकारियों में एक रहे हैं। उनके और विभाग के मंत्री चंद्रशेखर में लंबा विवाद चला, लेकिन तब भी मुख्यमंत्री ने कभी केके पाठक पर सवाल नहीं उठाया। कई विधायक, शिक्षक संगठन उनकी कार्यशैली पर सवाल उठाते रहे, लेकिन केके पाठक ने कभी सवालों और आलोचनाओं की परवाह नहीं की। वे लगातार अपना काम करते रहे। हालांकि स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों तथा अभिभावकों की उनसे कभी शिकायत नहीं रही।

केके पाठक ने स्कूली शिक्षा में सुधार के लिए कई कदम उठाए। शिक्षकों की लेट लतीफी तो बिल्कुल बंद हो गई थी। सारे शिक्षक समय पर आने लगे थे। बच्चों की पढ़ाई भी बेहतर हुई थी। यहां तक कि मिड डे मील की क्वालिटी बी बेहतर हुई थी।

राममंदिर : कांग्रेस ने निमंत्रण अस्वीकार किया, JDU ने कही बड़ी बात