तेजस्वी ने बिहार पर्यटन पॉलिसी का किया लोकार्पण, निवेशकों को भारी छूट

तेजस्वी ने बिहार पर्यटन पॉलिसी का किया लोकार्पण, निवेशकों को भारी छूट

तेजस्वी ने बिहार पर्यटन पॉलिसी का किया लोकार्पण, निवेशकों को भारी छूट। 35 प्रतिशत तक मिलेगी सब्सिडी। कैलेंडर और वार्षिक डायरी का विमोचन।

बिहार में आईटी पॉलिसी के बाद अब राज्य सरकार ने पर्यटन नीति भी पारित कर दी है। उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव (@yadavtejashwi) ने गुरुवार को पर्यटन नीति का लोकार्पण किया। नई पर्यटन नीति के केंद्र में निवेशक और बिहार के युवा हैं। नीति का जोर निवेशकों को आकर्षित करने तथा बिहार के युवकों को अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना है। नई पर्यटन नीति में निवेशकों को 35 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जाएगी। यह बड़ी छूट है। उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने नई पर्यटन नीति के लोकार्पण के साथ ही विभाग के कैलेंडर तथा वार्षिक डायरी का भी विमोचन किया। इस अवसर पर उन्होंने रील्स मेकिंग प्रतियोगिता 2023 के विजेताओं को पुरस्कृत भी किया।

मंत्री कुमार सर्वजीत ने समारोह में राज्य सरकार के कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कि जिस उम्र में अनेक युवा पिता के पैसे से बाइक खरीद कर मस्ती करते हैं, उस उम्र में ही तेजस्वी यादव बिहार को विकसित करने के कार्य के लिए खुद को समर्पित कर चुके हैं। उनके पास बिहार को विकसित करने का विजन है, जिसे वे जमीन पर उतार रहे हैं। मंत्री इसराइल मंसूरी ने कहा कि बिहार सरकार जिस तरह युवाओं के लिए कार्य कर रही है, उसका मुकाबला कोई राज्य नहीं कर सकता। सिर्फ 70 दिनों में दो लाख से ज्यादा युवकों को नौकरी देने वाला अकेला प्रदेश बिहार है।

बिहार की नई पर्यटन नीति में 35 प्रतिशत तक सब्सिडी देने के अलावा जीएसटी में छूट, जमीन हस्तांतरण के कर में भी राहत दी गई है। आज के समारोह में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव, माननीय मंत्री (भवन निर्माण विभाग) अशोक चौधरी, माननीय मंत्री (उद्योग विभाग) समीर कुमार महासेठ, माननीय मंत्री (कृषि विभाग) कुमार सर्वजीत, सचिव (पर्यटन सह आईटी विभाग) अभय कुमार सिंह, निदेशक (टूरिज़्म) विनय कुमार राय, प्रबंध निदेशक (बीएसटीडीसी) नन्दकिशोर उपस्थित थे। साथ ही बड़ी संख्या में पर्यटन के क्षेत्र निवेश कर चुके या करने की योजना बनाने वाले उद्यमी भी मौजूद थे।

राममंदिर : आंबेडकर के पोते ने आमंत्रण ठुकराया, कहा आजादी खतरे में