चीन के राजनियक RSS दफ्तर पहुंचे, कांग्रेस ने उठाए तीन सवाल

चीन के राजनियक RSS दफ्तर पहुंचे, कांग्रेस ने उठाए तीन सवाल

चीन के राजनियक RSS मुख्यालय पहुंचे, कांग्रेस ने उठाए तीन सवाल। लाल आंख तो नहीं दिखाई, देश के जवानों की शहादत भी भूल गए। जानिए तीन सवाल क्या हैं?

चीन के राजनियकों के RSS मुख्यालय पहुंचने की खबर से शुक्रवार को राजनीति गरमा गई। कांग्रेस ने भाजपा और संघ को जम कर घेरा। कहा कि लाल आंख दिखाने की बात खोखली निकली, क्या देश के हमारे जवानों की शहादत भी भूल गए? कांग्रेस ने भाजपा और संघ के राष्ट्रवाद पर भी सवाल किया। यह पहला मौका है जब चीनी राजनयिक संघ मुख्यालय पहुंचे। इसलिए लोग भी जानना चाहते हैं कि संघ और चीनी राजनयिकों में क्या बात हुई।

कांग्रेस ने चीनी राजनयिकों के आरएसएस मुख्यालय जाने पर तीखे सवाल उठाए। तीन सवाल पूछे-पहला कि चीनी राजनियक संघ के मुख्यालय में क्यों गए। दूसरा सवाल कि चीनी राजनयिकों तथा संघ के बीच क्या बात हुई और तीसरा कि चीनी राजनयिकों और संघ के बीच क्या समझौता हुआ। कांग्रेस ने यह भी पूछा कि भाजपा-संघ और चीन के बीच क्या रिश्ता है। कांग्रेस के इन सवालों से राजनीति गरमा गई। अभी तक संघ या भाजपा ने कोई जवाब नहीं दिया है।

कांग्रेस ने ट्वीट किया-चीन के राजनयिक RSS के मुख्यालय में गए थे। अब सवाल उठता है- चीन के राजनयिक RSS के मुख्यालय क्यों गए? इस मीटिंग में क्या चर्चा हुई? चीन के राजनयिक और RSS के बीच क्या समझौता हुआ? कांग्रेस ने आगे कहा कि ये सब तब हो रहा है जब मोदी सरकार मान रही है कि चीन के साथ भारत के रिश्ते ‘Normal’ नहीं हैं। क्या चीन को ‘लाल आंख’ दिखाने की खोखली बातें करने वाले PM मोदी हमारे जवानों की शहादत भूल गए? यह बेहद गंभीर मामला है। मोदी सरकार देश को बताए कि चीन के साथ उसकी क्या नीति है? चीन के साथ RSS-BJP का क्या रिश्ता है?

कांग्रेस के सुरेंद्र राजपूत ने कहा कि ये चीन वाले RSS के मुख्यालय में? क्या कर रहे हैं ये कौन सा रिश्ता है? ये वो ही चीन है जिसने हमारे 20 जवानों की निर्ममता से हत्या की थी। भाजपा जवाब दे। इसी के साथ अन्य कांग्रेस नेताओं ने भी भाजपा-संघ और चीन के रिश्ते पर सवाल उठाया है। देखना है संघ की तरफ से इन सवालों का कोई जवाब दिया जाता है या नहीं। देश भी जानना चाहेगा कि आखिर बात क्या हुई।

RJD-JDU में खटपट की खबर पर राजद सांसद ने लगा दी क्लास