दिल्ली, लखनऊ, पटना से कोलकाता तक सड़क पर उतरा INDIA गठबंधन

दिल्ली, लखनऊ, पटना से कोलकाता तक सड़क पर उतरा INDIA गठबंधन

दिल्ली, लखनऊ, पटना से कोलकाता तक सड़क पर उतरा INDIA गठबंधन। 146 सांसदों के निलंबन के खिलाफ और लोकतंत्र बचाने के लिए देशभर में प्रदर्शन।

पहली बार इंडिया गठबंधन के 26 दलों ने सड़क मोदी सरकार के खिलाफ सड़क पर भी संघर्ष छेड़ दिया है। शुक्रवार को दिल्ली, लखनऊ, कोलकाता, मुंबई से लेकर चेन्नई तक विपक्ष ने 146 सांसदों के निलंबन को सड़क का मुद्दा यानी आम आदमी का मुद्दा बना दिया। देश भर में हुए प्रदर्शनों में विपक्ष के सारे बड़े नेता सड़क पर उतरे। दिल्ली में गठबंधन ने जंतर-मंतर पर प्रदर्शन किया, जिसमें लगभग सारे दलों के नेता उपस्थित थे। यहां मंच पर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, एनसीपी नेता शरद पवार, लेफ्ट नेता सीताराम येचुरी, आरजेडी सांसद मनोज झा, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, आप के सुशील रिंकू सहित अनेक दलों के नेता मौजूद थे।

इधर पटना में राजद, जदयू, कांग्रेस तथा वाम दलों के सभी प्रदेश स्तरीय नेताओं के नेतृत्व में इंडिया गठबंधन ने प्रदर्शन किया। भारी संख्या में जुटे कार्यकर्ता मोदी सरकार की तानाशाही नहीं चलेगी का नारा लगा रहे थे। लखनऊ में भी सपा, कांग्रेस तथा वाम दलों के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। इंडिया गठबंधन के नेताओं ने कहा कि 146 सांसदों का निलंबन दिन दहाड़े लोकतंत्र की हत्या है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़े ने कहा कि हमारा INDIA गठबंधन, देश के लिए, संविधान के लिए और लोकतंत्र को बचाने के लिए साथ आया है। राजद सांसद मनोज झा ने कहा कि ईडी, सीबीआई से विपक्ष डरने वाला नहीं है। देश पर तानाशाही थोपने नहीं दी जाएगी। लोकतंत्र को खत्म कर दिया गया है। इसे फिर से जिंदा करना है।

राहुल गांधी ने कहा कि संसद में धुंआ देखकर भाजपा सांसदों की हवा निकल गई। संसद में दो युवा कूदे, तो भाजपा के सांसद भाग खड़े हुए। ये भाजपा के लोग खुद को देशभक्त कहते हैं। उन्होंने कहा कि एक शोध से मालूम हुआ कि देश का युवा रोज छह घंटे सोशल मीडिया पर बिता रहा है। दरअसल प्रधानमंत्री मोदी ने देश के युवाओं के बोरोजगार बना दिया है। शुक्रवार को देशभर में प्रदर्शन से इंडिया गठबंधन के कार्यकर्ताओं में नया जोश आ गया है।

22 दिसंबर को हर जिले में INDIA गठबंधन दिखाएगा ताकत