पहली बार राजद ने दो टूक कहा, नीतीश कुमार कन्फ्यूजन दूर करें

पहली बार राजद ने दो टूक कहा, नीतीश कुमार कन्फ्यूजन दूर करें

पहली बार राजद ने दो टूक कहा, नीतीश कुमार कन्फ्यूजन दूर करें। यही नहीं, सांसद और प्रवक्ता मनोज झा ने आज शाम तक स्थिति स्पष्ट करने का वक्त दिया।

बिहार में नीतीश कुमार गठबंधन में रहेंगे या पाला बदल कर भाजपा के साथ जाएंगे, इस लगातार दो दिनों से जारी असमंजस की स्थिति पर पहली बार राजद ने दो टूक ढंग से अपनी बात कही है। पार्टी के प्रवक्ता और सांसद मनोज झा ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्य में जारी कन्फ्यूजन को को दूर करें। यही नहीं, राजद प्रवक्ता ने एक तरह से अल्टीमेटम भी दिया। कहा कि आज शाम तक मुख्यमंत्री स्थिति स्पष्ट करें। हालांकि उन्होंने यह नहीं कहा कि असमंजस की स्थिति स्पष्ट नहीं करने पर राजद क्या कदम उठाएगा।

राजद प्रवक्ता मनोज झा ने यह भी कहा कि उनकी पार्टी किसी तरह के जोड़-तोड़ में न यकीन करती है और न ही इस तरह का काम करती है। मालूम हो कि कई मीडिया ग्रुप इस तरह की खबर चला रहे हैं कि जदयू के कुछ विधायक टूट सकते हैं। वैसे में सारा खेल पलट सकता है।

राजद प्रवक्ता के इस तरह दो टूक शब्दों में नीतीश कुमार से जवाब मांगने पर राजनीति गरमा गई है। जदयू के एक प्रवक्ता को सामने आना पड़ा। जदयू प्रवक्ता अभिषेक झा ने कहा कि जो भी कन्फ्यूजन की स्थिति है, उस पर बैठ कर विचार होगा। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि जदयू के कौन नेता कब बैठकर स्थिति स्पष्ट करेंगे।

इस बीच शुक्रवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राजभवन गए। वहां उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात की है। इधर मीडिया में फिर खबरें चलने लगीं कि नीतीश कुमार आज 26 जनवरी को ही पाला बदल सकते हैं। इससे पहले सुबह में मीडिया में खबरें आ रही थीं कि नीतीश कुमार 28 जनवरी को इस्तीफा दे कर फिर से मुख्यमंत्री के पद की शपथ लेंगे।

पूरे प्रकरण में राजद ने अपनी तरफ से संयम बनाए रखा। भाजपा के नेता दिल्ली तलब किए गए। वहां अमित शाह के साथ बिहार भाजपा के नेताओं की बैठक हुई, लेकिन राजद शांत ही रहा। अब जबकि असमंजस के कारण सरकार की गतिविधि भी प्रभावित होने लगी और चर्चा गांव-गांव तक फैल गई, तब राजद ने दो टूक शब्दों में मुख्यमंत्री से स्थिति स्पष्ट करने की मांग कर दी है।

गणतंत्र दिवस पर संविधान की उद्देशिका नहीं पढ़ी, तो जरूर पढ़ें