नीतीश से मिलने लालू पहुंचे, जानिए क्या हुई बात

नीतीश से मिलने लालू पहुंचे, जानिए क्या हुई बात

नीतीश से मिलने लालू पहुंचे, जानिए क्या हुई बात। तेजस्वी भी थे साथ। आधे घंटे हुई बात। गोदी मीडिया की खबरों पर तेजस्वी यादव ने क्या कहा

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद शुक्रवार को नीतीश कुमार से मिलने मुख्यमंत्री आवास पहुंचे और इसी के साथ देशभर में ब्रेकिंग न्यूज चलने लगा। खबरों में बताया जाने लगा कि बिहार में कुछ बड़ा उलट-पुलट होने वाला है। कई चैनलों में यह खबर भी चलने लगी कि भाजपा ने अपने सभी विधायकों को पटना में रहने का आदेश दिया है। मीडिया की खबरों को लब्बो-लुआब यह था कि नीतीश कुमार एक बार फिर पाला बदलने वाले हैं। ऐसी अटकलों को इस खबर से भी बल मिला कि बिहार एनडीए के तीन पार्टनर चिराग पासवान, उपेंद्र कुशवाहा और जीतनराम मांझी दिल्ली में डेरा जमाए हैं। मांझी ने ट्वीट करके कहा कि बिहार में जो कुछ भी होगा, अच्छा ही होगा।

इस बीच उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मीडिया से बात करते हुए इन अटकलों को पूरी तरह खारिज किया। कहा कि मुलाकात का विशेष अर्थ निकालने की कोई जरूरत नहीं है। सामान्य मुलाकात थी। आधे घंटे से ज्यादा देर तक चली मुलाकात में सीटों के तालमेल तथा संयुक्त रूप से चुनाव लड़ने की रणनीति पर चर्चा हुई। उन्होंने जोर देकर कहा कि राजद और जदयू में कोई मतभेद नहीं है। चुनाव में हम मिल कर पूरी ताकत से लड़ेंगे। जहां जदयू चुनाव लड़ेगा, वहां समझिए राजद भी चुनाव लड़ेगा। पूरी एकता रहेगी। दोनों दल एक दूसरे के लिए काम करेंगे। दोनों मिल कर इंडिया गठबंधन की जीत सुनिश्चित करेंगे।

तेजस्वी यादव की इस प्रतिक्रिया के बाद मीडिया के रुख में बदलाव आया। फिर नीतीश कुमार के पलटने जैसी खबरों पर विराम लगा और तेजस्वी यादव के बयान चलने लगे।

मीडिया में नीतीश कुमार के पलटने की खबर से एनडीए के घटकों के होश उड़ गए। कहा जाने लगा कि अगर नीतीश कुमार एनडीए में गए तो चिराग पासवान, जीतनराम मांझी और उपेंद्र कुशवाहा के राजनीतिक भविष्य पर ताला लग जाएगा। तीनों को जो सीटें मिलने की उम्मीद है, उस पर पानी फिर जाएगा। तेजस्वी यादव के बयान के बाद एनडीए के इन घटकों ने थोड़ी राहत महसूस की है।

तेजस्वी के सामने मंत्री कुमार सर्वजीत ने पालतू मीडिया की बखिया उधेड़ी