नीतीश ने मेडिकल कॉलेज का किया शिलान्यास, फिर मांगा विशेष दर्जा

नीतीश ने मेडिकल कॉलेज का किया शिलान्यास, फिर मांगा विशेष दर्जा

नीतीश ने मेडिकल कॉलेज का किया शिलान्यास, फिर मांगा विशेष दर्जा। मुंगेर में मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने किया शिलान्यास।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को मुंगेर मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और जदयू अध्यक्ष तथा स्थानीय सांसद ललन सिंह भी मौजूद थे। खास बात यह कि इस मौके पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने एक बार फिर बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग की। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार से विशेष राज्य का दर्जा की मांग करते हुए कहा कि जाति गणना के बाद दलितों, पिछड़ों, अतिपिछड़ों के तेजी से विकास के लिए बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिलना चाहिए।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तथा उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मुंगेर में राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल का शिलान्यास करने के साथ ही मुंगेर सदर अस्पताल परिसर में बने 100 बेड के प्री-फेब्रिकेटेड अस्पताल और 32 बेड के पीकू वार्ड का उद्घाटन भी किया।

मुख्यमंत्री सहित अन्य नेताओं ने भी बिहार के जाति गणना की चर्चा करते हुए कहा कि अगर बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिलता है, तो सिर्फ दो साल में बिहार की गरीबी मिट सकती है। राज्य में 94 लाख गरीब परिवार हैं। इन्हें दो-दो लाख रुपए दिए जाएंगे। जिनके पास घर नहीं हैं, उन्हें जमीन खरीदने तथा मकान बनाने के लिए राशि अनुदान के रूप में दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने सभा में कहा कि पहले वे मुंगेर में मेडिकल कॉलेज बनाने के खिलाफ थे, क्योंकि वे चाहते थे कि जहां भी मेडिकल कॉलेज बने तो साथ में स्थानीय लोगों के लिए अस्पताल भी हो। शुरू में सिर्फ मेडिकल कॉलेज का प्रस्ताव था, जिसे बाद में अस्पताल से भी जोड़ा गया। अब मुंगेर में राजकीय अस्पताल सह मेडिकल कॉलेज बन रहा है। इससे आसपास की आबादी को मेडिकल सुविधा भी मिलेगी। स्थानीय सांसद ललन सिंह ने मेजिकल कॉलेज सह अस्पताल बनने पर मुख्यमंत्री का धन्यवाद देते हुए कहा कि इस इलाके के लोगों को अब इलाज के लिए दूसरे शहरों में नहीं जाना पड़ेगा।

इंडिया सोशल फोरम का राष्ट्रीय सम्मेलन 2 दिसंबर से पटना में