नीतीश तेजस्वी को सौंपेंगे बिहार की सत्ता, खुद करेंगे देश का दौरा!

नीतीश तेजस्वी को सौंपेंगे बिहार की सत्ता, खुद करेंगे देश का दौरा!

नीतीश तेजस्वी को सौंपेंगे बिहार की सत्ता, खुद करेंगे देश का दौरा! मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी से मुक्त होकर राष्ट्रीय भूमिका में उतरने की बड़ी तैयारी।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दिल्ली में हुई पार्टी की बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिये गए। पार्टी नेताओं ने मीडिया को बताया कि नीतीश कुमार देश का दौरा करेंगे। स्पष्ट है वे राष्ट्रीय राजनीति में बड़ी भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं। खुद नीतीश कुमार ने कहा है कि उन्हें चुनौती स्वीकार है। यह चुनौती दरअसल राष्ट्रीय भूमिका की ही है। बड़ी राष्ट्रीय भूमिका निभाने के लिए उनका बिहार की जिम्मेदारी से मुक्त होना जरूरी है। इसीलिए माना जा रहा है कि वे जल्द ही मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़ेंगे और इस पद पर उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को बैठाएंगे। नीतीश अपने चौंकानेवाले फैसले के लिए भी जाने जाते हैं। एक बार फिर से वे चौंकाने वाला कदम उठाएंगे तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री की कुर्सी सौंप कर।

यह भी स्पष्ट है कि खुद मुख्यमंत्री ने कहा था कि भविष्य तेजस्वी यादव ही हैं। आपलोग मिल कर काम करिए। उनके इस बयान के बाद राजनीति गरमा गई थी। तब माना गया था कि वे राजद और जदयू आपस में विलय करेंगे और नीतीश कुमार राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे तथा तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री। लेकिन वैसा नहीं हो सका।

अब नई राजनीतिक स्थिति में इस बात की संभावना ज्यादा लगती है कि नीतीश कुमार बिहार की सत्ता तेजस्वी योदव को सौंप कर खुद राष्ट्रीय राजनीति में पूरी तरह उतरें। राजनीतिक विश्लेषकों का यह भी मानना है कि राजद के साथ सरकार बनाते समय ही इस बात पर सहमति बन गई थी कि ढाई साल बाद वे मुख्यमंत्री की पद छोड़ देंगे तथा तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बना देंगे। याद रहे कुछ महीना पहले बिहार की राजनीति में तेजी से चर्चा उठी थी कि तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री बनने वाले हैं।

तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री का पद सौंपने के लिए नीतीश कुमार ने रास्ता तैयार कर लिया है। अब वे खुद पार्टी का अध्यक्ष हैं। वैसी स्थिति में कोई भी निर्णय लेने में अब उन्हें कोई बाधा नहीं है। इधर तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री के जदयू अध्यक्ष बनने पर बधाई दी और साथ ही कहा कि हम मिल कर देशभर में भाजपा को हराएंगे। यह भी इस बात का इशारा है कि नीतीश राष्ट्रीय राजनीति में बड़ी और चुनौतीपूर्ण भूमिका निभाने को तैयार हैं। तो तैयार रहिए बिहार में बड़े बदलाव के लिए।

BJP नेता ने अपनी ही पार्टी पर लगाया गीता पाठ में घोटाले का आरोप