2010 की तरह नीतीश को उम्मीद, 5 को महिला पंचायत सम्मेलन

2010 की तरह नीतीश को उम्मीद, 5 को महिला पंचायत सम्मेलन

2010 में नारी शक्ति ने नीतीश को भारी जीत दिलाई थी। अब 5 मार्च को महिला पंचायत प्रतिनिधि सम्मेलन। पहली बार 14 अप्रैल को हर पंचायत में आंबेडकर जयंती।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस सप्ताह के दौरान 5 मार्च को जदयू का पटना में महिला पंचायत प्रतिनिधि सम्मेलन होगा। 14 अप्रैल को पहली बार जदयू राज्य की हर पंचायत में आंबेडकर जयंती मनाएगा। स्पष्ट है 2024 लोकसभा चुनाव की तैयारी का पूरा जोर महिला और दलित शक्ति पर है। इन्हीं दो शक्तियों खासकर महिलाओं ने 2010 बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार को भारी जीत दिलाई थी। जदयू को सबसे बड़ा दल बनाया था।

जदयू पटना जिला एवं पटना महानगर जदयू की संयुक्त बैठक प्रदेश कार्यालय, पटना में हुई। जिसमें अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस व बाबा साहेब भीम राव आंबेडकर जयंती एवं प्रकाशोत्सव पंचायत स्तर पर तथा अनुमंडल स्तर पर भीम संवाद आयोजित करने पर चर्चा की गयी। बैठक में प्रत्येक पंचायत में 14 अप्रैल को बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर की जयंती पंचायत स्तर पर मनाने एवं बाबा साहेब के विचारों को स्टीकर के माध्यम से जन-जन तक पहुँचाने तथा जयंती के पूर्व संध्या 13 अप्रैल को सभी पंचायतों में शाम 7 बजे प्रकाशोत्सव/दीप प्रज्जवलित मनाने की रूपरेखा तय की गयी। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 5 मार्च को पार्टी कार्यालय स्थित कर्पूरी सभागार में होगी। जिसमे महिला पंचायत प्रतिनिधि सम्मिलन आयोजित किया जाएगा।

वक्ताओं ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में महिलाओं की सशक्तीकरण हुआ। शराबबंदी से महिलाओं में आत्म सम्मान जागा हैं। पंचायत में 50 प्रतिशत आरक्षण से महिलाओं का राजनैतिक अधिकार मिली हैं। 35 प्रतिशत राज्य सरकार की नौकरियों में आरक्षण से प्रशासन में महिलाओं की भागीदारी बढ़ी है।

प्रदेश की बागडोर संभालते ही मुख्यमंत्री ने वंचितों को पंचायतों एवं नगर निकायों में आरक्षण दिया, जिससे इस समाज के लोग नेतृत्वकारी भूमिका में आए। बैठक की अध्यक्षता पटना ग्रामीण के जिलाध्यक्ष अशोक कुमार सिंह ने तथा संचालन पटना महानगर के अध्यक्ष आसिफ कमाल जी ने किया। पार्टी के राष्ट्रीय सचिव सह विधान पार्षद रवीन्द्र प्रसाद सिंह बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे, साथ ही राष्ट्रीय सचिव राजीव रंजन प्रसाद, प्रदेश महासचिव चंदन कुमार सिंह, पटना ग्रामीण के पूर्व जिलाध्यक्ष अरुण मांझी पूर्व विधायक, पूर्व विधान पार्षद बाल्मीकि सिंह, नंदकिशोर कुशवाहा, महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्ष श्वेता विश्वास, राम चरित्र प्रसाद, डाॅ धर्मेन्द्र चंद्रवंशी, डाॅ हुलेश मांझी, सुरेन्द्र गोप, चंदन पटेल ने बैठक में भाग लिया।

आजम खान के बेटे अब्दुल्ला की विधायकी रद्द, 6 महीने में उपचुनाव