आज झांसी में सपा की आंधी, रैली करने से क्यों बच रही भाजपा

आज झांसी में सपा की आंधी, रैली करने से क्यों बच रही भाजपा

अखिलेश यादव को सुनने रोज लोग उमड़ रहे हैं। आज झांसी में भी इतनी भीड़ दिखी, जैसे सपा की आंधी हो। भाजपा रैली का जवाब रैली से क्यों नहीं दे रही?

क्या यूपी में खदेड़ा शुरू हो चुका है? सपा प्रमुख अखिलेश यादव रोज रैली नहीं, रैला कर रहे हैं। आज उनकी झांसी की सभा में फिर भारी भीड़ दिखी। दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा रैली का जवाब रैली से नहीं दे रही है। दो दिन पहले योगी आदित्यनाथ और अमित शाह की एक रैली हुई थी, लेकिन पार्टी के ट्विटर हैंडल BJP Uttarpradesh पर भीड़ दिखाने से बचा गया है। वीडियो में सिर्फ अमित शाह के चेहरे पर कैमरा है। एक बार भीड़ की तरफ कैमरा गया, तो मुश्किल से दो-चार हजार लोग दिख रहे हैं।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव का कॉन्फिडेंस और भीड़ का जोश दोनों जबरदस्त दिख रहा है। भीड़ शांत नहीं, शोर मचा कर रिस्पांस कर रही है। अखिलेश यादव ने ट्वीट किया-कहे बुंदेलखंड, भाजपा के लिए दरवाज़ा बंद। उन्होंने एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा-झाँसी वाले अब झाँसे में नहीं आएँगे! बुंदेलखंड पुकारता, नहीं चाहिए भाजपा।

अखिलेश की किसी रैली में कुर्सी की व्यवस्था नहीं है। लोग खड़े होकर भाषण सुन रहे हैं। जैसे ही वे विजय रथ के ऊपर से हाथ हिलाते हैं, भीड़ जैसे लहरों की तरह हिलोड़ें लेने लगती है।

उधर भाजपा रैली के मामले में पिछड़ गई है। प्रधानमंत्री की कुछ रैलियां हुईं, जिसमें सरकारी बसों को जब्त करके लोगों को लाया गया। यह भी खबर आई कि मनरेगा मजदूरों को ढोकर लाया गया। इसलिए 2014 और 2017 या 2019 वाला जोश गायब है। भाजपा के ट्विटर अकाउंट पर आज योगी आदित्यनाथ के पांच वीडियो शेयर किए गए हैं, जिसमें सिर्फ उन्हीं का चेहरा दिख रहा है। इसके अलावा सांप्रदायिक एजेंडे पर कई वीडियो हैं। लेकिन एक भी वीडियो ऐसा नहीं दिख रहा है, जिसे अखिलेश की रैलियों के जवाब के तौर पर देखा जा सके।

सुनो बिहार, पहली बार आक्रामक नहीं, आहत क्यों दिखे तेजस्वी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*