अमित शाह के आने के पहले उठी AMU Kishanganj को फंड की मांग

अमित शाह के आने के पहले उठी AMU Kishanganj को फंड की मांग

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कल पूर्णिया-किशनगंज के दौरे पर आ रहे हैं। आज AMU Kishanganj को फंड देने, निर्माण कार्य शुरू करने की उठी मांग।

केंद्र सरकार ने एएमयू की बिहार में शाखा खोलने की घोषणा की थी। यह शाखा किशनगंज में खुलनी है। इसका शिलान्यास भी हुआ। कहा गया कि यह पिछड़ा इलाका है और एएमयू की शाखा खुलने से इस इलाके का विकास होगा। लेकिन केंद्र सरकार एएमयू किशनगंज के लिए फंड ही नहीं दे रही, इसलिए यह सपना, सपना ही बन कर रह गया है। आज सोशल मीडिया पर #FundForAMUKishanganj ट्रेंड कर रहा है। इस हैशटैग के साथ इलाके के युवा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह को टैग करके इस प्रस्तावित विवि शाखा के लिए फंड की मांग कर रहे हैं।

आदिल राशिद ने लिखा-बिहार और केंद्र सरकार मिलकर सीमांचल के साथ भेदभाव कर रही है। नीति आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक सबसे फिसड्डी इस क्षेत्र को एक यूनिवर्सिटी तक नहीं दे रही है। कई लोगों ने फोटो के साथ ट्वीट किया है। रेहान रजा ने लिखा है कि 2008 में ही बनने वाली किशनगंज AMU शाखा का हाल ये है कि आजतक फंड रिलीज नहीं हो पाया है। मुबस्सिर आलम ने लिखा-AMU हमारी शान है, जब तक फंड नहीं दे देती है सरकार, तब तक हमारी संघर्ष रहेगी बरकरार।

एएमयू किशनगंज को फंड देने की मांग विभिन्न मंचों से उठती रही है। संसद में भी यह मांग उठाई जा चुकी है, लेकिन केंद्र सरकार लगता है इस मामले में पूरी तरह आंखें मूदें है। सगीर खान ने ट्वीट किया-सीमांचल मांगे एएमयू। कब तक अपनी बेबसी पर रोएगा AMU किशनगंज। फंड जारी करो गूंगी- बहरी सरकार।

सोशल मीडिया के अलावा सड़क पर उतर कर भी लोग केंद्र की उपेक्षा के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं। किशनगंज में कई बार-धरना प्रदर्शन होते रहे हैं। अब देखना है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह इस मामले में क्या करते हैं।

कभी सोनिया ने भाजपा की हवा निकाल दी थी, अब राहुल ने निकाली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*