चिराग पासवान की पार्टी लोजपा के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा देनेवाले पूर्व सांसद अरुण कुमार मंगलवार को बसपा में शामिल हो गए। वे जहानाबाद से चुनाव लड़ेंगे। इसी के साथ एनडीए के लिए काराकाट के बाद जहानाबाद सीट भी बुरी तरह फंस गई है। काराकाट में भोजपुरी फिल्मों के कलाकार पवन सिंह ने आज से अपना चुनाव प्रचार शुरू कर दिया। उन्हें भाजपा ने आसनसोल से टिकट दिया था, लेकिन वे वहां से लड़ने को तैयार नहीं थे। अब काराकाट से निर्दलीय तैयारी शुरू कर दी है।

पूर्व सांसद अरुण कुमार के बसपा में शामिल होने तथा जहानाबाद से चुनाव लड़ने के एलान के साथ जदयू की सीट बुरी तरह फंस गई है। यहां जदयू के चंद्रेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी के खिलाफ पहले ही लोगों में नाराजगी दिख रही है और रही कसर अरुण कुमार ने पूरी कर दी। चंद्रवंशी को पिछली बार भी मुश्किल से जीत मिली थी। वे सिर्फ 17 सौ मतों से जीत पाए थे। इस बार उनकी सीट फंसती नजर आ रही है।

पूर्व सांसद अरुण कुमार को उम्मीद थी कि चिराग पासवान उनके लिए जहानाबाद सीट ले पाएंगे, लेकिन चिराग ऐसा करने में सफल नहीं हुए। नवादा सीट भी भाजपा को दे दी। इसके बाद अरुण कुमार के पास पार्टी छोड़ने के अलावा विकल्प नहीं था। अरुण कुमार ने लोजपा से त्यागपत्र दे दिया और कांग्रेस से प्रत्याशी बनाए जाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन कांग्रेस ने भी प्रत्याशी नहीं बनाया। अब अंत में उन्होंने बसपा का दामन थाम लिया है।

धरती पर तीन असंभव हो सकते हैं..तेजस्वी ने PM पर ली गजब चुटकी

उधर काराकाट में भोजपुरी कलाकार पवन सिंह ने मंगलवार को पूरे तामझाम के साथ रोड शो किया। उनके रोड शो में खासी भीड़ देखी गई। उनके चुनाव लड़ने से उपेंद्र कुशवाहा की स्थिति नाजुक हो गई है। पवन सिंह के चुनाव लड़ने से सवर्ण वोट खिसक सकता है। अब यहां मुकाबला तिकोना हो गया है। यहां माले के प्रत्याशी हैं पूर्व विधायक राजाराम सिंह। वे भी कुशवाहा बिरादरी से हैं।

रामदेव की चालाकी कोर्ट ने पकड़ी, फिर होना होगा पेश

By Editor