अस्पताल पहुंचे DC, हादसे में मौत के बाद परिजन को दिया चेक

अस्पताल पहुंचे DC, हादसे में मौत के बाद परिजन को दिया चेक

झारखंडी ब्यूरोक्रेसी कितनी संवेदनशील है, इसका उदाहरण पाकुड़ DC ने दिया। हादसे में मौत के बाद गरीब परिजन अभी अस्पताल में ही थे कि पहुंचकर दिया चेक।

बिहार में हर हादसे के बाद पब्लिक का उग्र होना, वाहनों में तोड़फोड़ करना और सड़क जाम करना आम है। ऐेसा करने के पीछे यह मान्यता है कि सड़क जाम करने के बाद प्रशासन आएगा और मुआवजा मिलेगा। लोगों को भरोसा ही नहीं होता कि सड़क जाम किए बगैर मुआवजा राशि मिलेगी। वहीं झारखंड के पाकुड़ के डीसी ने अच्छा उदाहरण पेश किया।

जिले में सड़क दुर्घटना हुई, जिसमें दुरनाथ हेंब्रम की मौत हो गई। अभी गरीब दुरनाथ हेंब्रम के परिजन अस्पताल में ही थे कि खुद डीसी पहुंच गए और परिजनों को सहायता राशि अपने हाथ से चेक के रूप में दी। पाकुड़ डीसी की इस संवेदनशीलता और तत्परता की सभी लोग सराहना कर रहे हैं। कोई भी अधिकारी कोई अच्छा काम करे, तो मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन खुद आगे बढ़कर हौसलाआफजाई करते हैं, सराहना करते हैं। इस मामले में भी प्रदेश के मुख्यमंत्री सोरेन ने पाकुड़ डीसी के ट्वीट को रिट्वीट किया। पाकुड़ डीसी ने चेक देते हुए फोटो के साथ ट्वीट किया-अमड़ापाड़ा प्रखंड के पाडेरकोला में भीषण सड़क दुर्घटना में मृत व्यक्ति दुरनाथ हेंब्रम के पत्नी को सदर अस्पताल में ही एक लाख का चेक दिया गया।

पाकुड़ डीसी की इस संवेदनशीलता का असर समाज पर भी पड़ता है। समाज भी दुख की घड़ी में मदद के लिए आगे आता है। प्रदेश के मंत्री, विधायक आगे आकर मदद कर रहे हैं। मंत्री बादल भी मृतक के घर पहुंचे और परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने भी सहायता राशि दी। उन्होंने ट्वीट किया-अमड़ापाड़ा में भीषण सड़क दुर्घटना में मृतक दिवाकांत झा के परिजनों से मिला,सरकार की तरफ से में एक लाख का चेक प्रदान किया। इस दुःख की घड़ी में सरकार आपके साथ है।

पाकुड़ डीसी ने बचाया कि बोरियो विधायक लोबिन हेंब्रम एवं बरहेट विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा ने जिले के अधिकारियों की उपस्थिति में एक-एक लाख रुपये का चेक दिया। उन्होंने चेक देते फोटो भी शेयर किए हैं।

मोदी की ‘नौटंकी’ के बाद भक्त 1984 दोहराने की दे रहे धमकी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*