गोकशी के आरोप में बजरंग दल का जिलाध्यक्ष गिरफ्तार

गोकशी के आरोप में बजरंग दल का जिलाध्यक्ष गिरफ्तार

गोकशी के आरोप में बजरंग दल का जिलाध्यक्ष गिरफ्तार। मुरादाबाद के SSP हेमराज मीणा ने दी पूरी जानकारी। एक मुस्लिम तथा पुलिस को फंसाने की थी योजना।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने गुरुवार को एक बड़ी साजिश का खुलासा किया। गोकशी के आरोप में मुरादाबाद जिला बजरंग दल का अध्यक्ष गिरफ्तार किया गया है। उसके साथ तीन अन्य यानी चार लोग गिरफ्तार किए गए हैं। इस वारदात की पूरी जानकारी एसएसपी हेमराज मीणा ने गुरुवार को प्रेस वार्ता में दी।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक पुलिस ने अपनी जांच में जिन चार लोगों को आरोपी पाया उनके नाम हैं मोरादाबाद जिले के चेतरामपुर गांव के शहाबुद्दीन, जिला बजरंग दल नेता मोनू विश्नोई उर्फ सुमित, रमन चौधरी तथा राजीव चौधरी।

पुलिस के अनुसार शहाबुद्दीन ने मकसूद को फंसाने के लिए बजरंग दल का सहयोग लिया। मकसूद से उसकी दुश्मनी थी। पुलिस ने बताया कि 16 जनवरी को एक गाय का सिर बरामद हुआ। कांवर पथ से बरामद हुआ, जहां से कांवरिये हरिद्वार जाते हैं। केस दर्ज किया गया। इसके बाद जनवरी 28 की रात फिर ऐसी ही घटना चेतराम गांव के निकट हुई। पुलिस को शक हो गया कि इसके पीछे कोई साजिश है। कोई छुपा एजेंडा है। दूसरी घटना में घटना स्थल पर एक ट्राउजर तथा एक बटुआ मिला। बटुए में मकसूद की तस्वीर थी।

पुलिस ने पूछा कि उसकी किसी से दुश्मनी है, तो उसने शहाबुद्दीन का नाम बताया। फिर परतें खुलती गई। शहाबुद्दीन ने मोनू विश्नोई का सहयोग लिया था। विश्नोई हाल में ही जेल से छूटा था। वह अवैध कार्य में पुलिस का सहयोग नहीं मिलने से पुलिस को फंसाना चाहता था। इस तरह शहाबुद्दीन की वह मदद को तैयार हो गया। फिर विश्नोई ने ही पैसे देकर गाय के सिर मंगवाए और एक ही थाना क्षेत्र में उसे रखा, ताकि पुलिस फंस जाए और उसके अवैध कार्य पूरे हो सकें। इस पूरी खबर को फैक्ट चेकर मो. जुबैर ने भी शेयर किया है।

बजट में बिहार खाली हाथ फिर भी नीतीश ने किया स्वागत, राजद ने घेरा