बालू माफिया BJP के साथ, नोटबंदी में अरबों की जमीन खरीदी : JDU

लालू-बालू के रिश्ते से पुलिस पर हमले का आरोप लगानेवाले सुशील मोदी को जदयू प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने जबरदस्त जवाब दिया। भाजपा ने काले धन से जमीन खरीदी।

लालू-बालू के रिश्ते से पुलिस पर हो रहे हमले का आरोप लगानेवाले सुशील मोदी को जदयू प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने जवाब देते हुए कहा कि बालू माफिया को भाजपा ने विधान परिषद चुनाव में प्रत्याशी बनाया। उन्होंने भाजपा से पूछा कि नोटबंदी के दौरान जब लोगों के पास कैश नहीं था, शादी-ब्याह तक रुक गई, अस्पताल में इलाज तक करना मुश्किल था, तब भाजपा ने हर जिले में काले धन से अरबों की जमीन खरीदी।

जदयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने भाजपा सांसद सुशील कुमार मोदी पर पलटवार करते हुए कहा कि बिना आधार के बिहार की सरकार पर बेबुनियाद आरोप लगाने से पहले उन्हें अपनी पार्टी के गिरेबान में झांकने की जरूरत है। खनन माफियाओं को पार्टी में प्रश्रय देने वाली भाजपा को नैतिकता का ज्ञान नहीं देना चाहिए।
उन्होंने भाजपा पर संगीन आरोप लगाते हुए कहा कि अवैध बालू खनन से जुड़े माफियाओं को भारतीय जनता पार्टी द्वारा विधानपरिषद चुनाव में उम्मीदवार बनाया जाता है। यह बात सार्वजनिक पटल पर सिद्ध है। भाजपा शुरू से ही अपराधी और खनन माफियाओं के लिए एक सुरक्षित पार्टी रही है, इसके कई उदारहण भी जनता के सामने है।

जदयू अध्यक्ष कुशवाहा ने कहा कि सुशील कुमार मोदी की स्मरण शक्ति कमजोर हो चुकी है। इसीलिए उन्हें याद दिला देना चाहता हूँ कि कुछ वर्ष पूर्व उनकी ही पार्टी से सम्बंध रखने वाले खनन विभाग के तत्कालीन मंत्री के ओएसडी मृत्युंजय कुमार के घर पर छापेमारी के दौरान करोड़ो रुपये की बरामदगी हुई थी। बिहार की जनता यह बात अच्छे से जानती है कि भाजपा का पूरा कुनबा अपराधी और भष्ट्राचरियों से भरा हुआ है। इसीलिए सुशील मोदी जी को दूसरों के उपर गैरजिम्मेदाराना और आधारहीन आरोप नहीं लगाना चाहिए।

उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि नोटबन्दी के दौरान सभी जिलों में अवैध तरीके से भाजपा कार्यालय के लिए अरबों रुपये की जमीन खरीदी गई थी और भाजपा द्वारा पार्टी कार्यालय निर्माण के लिए कालेधन का भरपूर इस्तेमाल किया गया था। लेकिन खुद को सत्य की प्रतिमूर्ति बताने वाले भाजपा के किसी नेताओं ने इसके खिलाफ एक शब्द भी बोलना उचित नहीं समझा। ये लोग बस दूसरों पर बेबुनियाद लांछन लगाना जानते हैं और यह व्यहवारिक सत्य भी है कि भाजपा के नेता राजनीतिक लाभ के लिए कुछ भी अनाप-शनाप बयान देतें रहते हैं और बिहार की जनता भी अब इस बात को भलीभांति समझ चुकी है।

राहुल की अर्जी खारिज, क्या तीन दिन बाद जेल में होंगे

उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को चुनौती देने का साहस करने वाले खनन माफियाओं व अपराधियों को किसी भी कीमत पर बख्सा नहीं जाएगा। हमारी सरकार ऐसे लोगों के साथ सख्ती से निपटना जानती है।

बिहार में 19 SDPO, 2 IPS का तबादला, दो IAS को अतिरिक्त प्रभार

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420