भागलपुर : थाने के बैरक में पुलिस पदाधिकारी ने की आत्महत्या

भागलपुर : थाने के बैरक में पुलिस पदाधिकारी ने की आत्महत्या

भागलपुर : थाने के बैरक में पुलिस पदाधिकारी ने की आत्महत्या। पंखे से लटका मिला शव। गया के रहने वाले थे पुलिस पदाधिकारी। पटना में थाना प्रभारी सस्पेंड।

भागलपुर के एक थाने के बैरक में पुलिस पदाधिकारी का शव मिलने से शहर और विभाग में सनसनी फैल गई। पुलिस पदाधिकारी का शव पंखे से लटकता मिला। पुलिस पदाधिकारी का नाम अभिषेक कुमार है, जो गया के रहनेवाले थे। वे वाहन कोषांग के प्रभारी थे। माना जा रहा है कि पुलिस पदाधिकारी ने आत्महत्या की है। आत्महत्या के कारणों के बारे में अभी तक कोई खुलासा नहीं हुआ है। इधर पटना में एक थाना प्रभारी को शराब के अवैध धंधे में लिप्त रहने के कारण सस्पेंड कर दिया गया है।

भागलपुर पुलिस ने जानकारी दी है कि आज सुबह करीब 11 : 30 बजे परिचारी अभिषेक कुमार ( परिवहन शाखा प्रभारी) द्वारा SC/ST थाना परिसर के अपने कमरे में आत्महत्या कर लेने की सूचना प्राप्त हुई। स्थानीय पुलिस के द्वारा मौके पर पहुंचकर बंद कमरे के दरवाजा को तोड़ा गया, जहाँ अभिषेक कुमार पंखे से लटके हुए पाए गए। भागलपुर पुलिस ने यह भी कहा कि पुलिस उप-महानिरीक्षक महोदय, वरीय पुलिस अधीक्षक एवं अन्य पदाधिकारी मौके पर पहुँचे। घटनास्थल की वीडियोग्राफी एवं FSL टीम द्वारा साक्ष्य संकलन किया गया तथा आवश्यक विधि- सम्मत कार्रवाई की जा रही है। अभिषेक कुमार के परिजनों को सूचित किया गया है।

इधर पटना में दीघा थाना प्रभारी शराब चोरी करने के आरोप में सस्पेंड कर दिया गया है। यही नहीं एक दारोगा और थाने के चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है। दरअसल दीघा थाना पुलिस ने एक करोड़ से अधिक की शराब जब्त की। जब्त शराब में से कई बोतलें चुरा कर थाने के बैरक में छुपा दिया। इस बात की जानकारी एसपी को किसी व्यक्ति ने गोपनीय तरीके से व्हाट्सएप पर दी। इसके बाद मामले की जांत के लिए टीम गठित की गई, जिसमें शराब की बोतलें चोरी करने का मामला सामने आया। इसके बाद एसपी ने  थानेदार रामप्रीत पासवान को निलंबित कर दिया तथा दारोगा फूल कुमार चौधरी और चालक राजेश कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया।

बिहार में छुट्टी के कैलेंडर पर हंगामा, सरकार संशोधन को तैयार