Caste Cen. : BJP की नई आपत्ति पर सवाल, CM बोले पता नहीं

Caste Cen. : BJP की नई आपत्ति पर सवाल, CM बोले पता नहीं

Caste Census पर सर्वदलीय बैठक में सहमति के बाद भाजपा ने नई आपत्ति उठाई। पत्रकारों ने CM से पूछा, तो उन्होंने कहा-पता नहीं। BJP के सवाल से आया नया एंगल।

बिहार में जातीय जनगणना पर एक जून को सहमति देने के बाद भाजपा रोज नए सवाल खड़े कर रही है। अब उसके प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने एक नई आपत्ति उठाई है। उन्होंने कहा कि जातीय जनगणना में रोहिंग्या मुसलमानों की गिनती नहीं होनी चाहिए। आज पत्रकारों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भाजपा अध्यक्ष के सावल के बाबत पूछा, तो मुख्यमंत्री का जवाब था-पता नहीं।

द टेलिग्राफ की खबर के अनुसार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि उनकी पार्टी ने जातीय जनगणना पर सहमति दी है, पर पार्टी की कई चिंताएं हैं। राज्य भाजपा अध्यक्ष ने दावा किया कि उन्होंने सर्वदलीय बैठक में कहा था कि राज्य में जातीय जनगणना के क्रम में विदेशी घुसपैठियों और रोहिंग्या मुसलमानों की गिनती नहीं होनी चाहिए। अगर उनकी गिनती हुई, तो वे वैधता हासिल कर लेंगे।

राजनीतिक क्षेत्र में इस बात पर चिंता जताई जा रही है कि भाजपा विदेशी गुसपैठियों के सावल पर जातीय जनगणना को पटरी से उतार सकती है। भाजपा पहले से पूर्वी बिहार में विदेशी खासकर बांग्लादेशी घुसपैठियों का सवाल उठाती रही है। अब जातीय जनगणना पर अगर कोई कहे कि विदेशी घुसपैठिए की गिनती हुई है, तो पूरे अभियान को दूसरा रंग देकर इसे बेपटरी किए जाने का खतरा है।

इस बीच आज भी राजद ने दावा किया कि उसके प्रयासों के कारण ही जातीय जनगणना हो रही है और कि भाजपा शुरू से इसके खिलाफ रही है। पार्टी के प्रवक्ता चितरंजन गगन सीधे-सीधे भाजपा पर दलित-पिछड़ा विरोधी होने का आरोप लगाते रहे हैं।

अब इसमें हिंदू-मुस्लिम का नया एंगल आ गया है। अगर जातीय जनगणना को सांप्रदायिक रंग दिया गया, तो इस पूरे अभियान पर प्रश्नचिह्न लग जाएगा।

महागठबंधन का कल हल्ला बोल सम्मेलन, कांग्रेस बाहर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*