चिराग ने नीतीश से इस्तीफा मांगा, तेजस्वी ने कड़कड़ा के दिया जवाब

चिराग ने नीतीश से इस्तीफा मांगा, तेजस्वी ने कड़कड़ा के दिया जवाब। चिराग ने आरोप लगाया कि जाति गणना में जानबूझ कर गड़बड़ी की गई। तेजस्वी का जबरदस्त जवाब।

लोजपा (रामविलास) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर आरोप लगाया कि जात गणना में गड़बड़ी की गई है। उन्होंने मुख्यमंत्री से इस्तीफा मांग दिया। इसके जवाब में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने चिराग पासवान को जबरदस्त ढंग से घेरा और कहा कि जिन्हें राज्य सरकार द्वारा कराई गई जाति गणना पर भरोसा नहीं है, वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कह कर पूरे देश में जाति गणना करा लें। उनका शक दूर हो जाएगा।

जाति गणना पर भाजपा और उसके सहयोगी दल लगातार एक ही बात कह रहे हैं कि इसमें गड़बड़ी की गई है। इस गणना को रद्द करके फिर से जाति गणना कराई जाए। इधर राजद और जदयू ने अब इस मुद्दे पर आक्रामक रूख अख्तियार कर लिया है। आगे की योजना भी बना ली है।

बिहार की जाति गणना को नीतीश कुमार द्वारा किया गया राजनीतिक धमाका माना जा रहा है। पूरे देश की राजनीति बदल गई है। भाजपा का मंदिर-मस्जिद वाला नारा चर्चा से बाहर हो गया है और भाजपा बैकफुट पर दिख रही है। अभी कहा जा रहा है कि नीतीश कुमार एक और राजनीतिक धमाका करनेवाले हैं। वह विधानसभा के अगले सत्र यानी दिसंबर में हो सकता है। राजनीतिक हलकों में चर्चा है कि नीतीश कुमार आरक्षण की अधिकतम सीमा को बढ़ा कर 75 प्रतिशत करने का प्रस्ताव ला सकते हैं। भाजपा नीतीश के इस संभावित कदम से भी परेशान है।

तेजस्वी यादव केरल में हैं। वहां के क्षेत्रीय दल लोकतांत्रिक जनता दल का राजद में विलय हुआ। इस अवसर पर भी तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार की जाति गणना देश का नया मॉडल है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से पूरे देश में जाति गणना कराने की मांग की। कहा कि जाति गणना देश के वंचितों को न्याय दिलाने का माध्यम है। तेजस्वी यादव ने जिस प्रकार लोजपा प्रमुख चिराग पासवान को कड़ा जवाब दिया है, उससे भी स्पष्ट है कि बिहार में इंडिया गठबंधन अब जाति गणना में गड़बड़ी जैसे आरोपों से पीछे हटने वाला नहीं है और इसे राज्य का प्रमुख मुद्दा बनाने को संकल्प ले चुका है।

तेजस्वी को मिली बड़ी कामयाबी, केरल तक किया पार्टी का विस्तार

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420