‘EBC की बेटी जेनरल सीट से न जीते, इसलिए फंसाया’

EBC की बेटी जेनरल सीट से न जीते, इसलिए फंसाया

अतिपिछड़ी जाति की सरपंच दुबारा सामान्य सीट से चुनाव न जीते, इसके लिए उसे फर्जी मुकदमे में फंसा कर गिरफ्तार कर लिया गया। जन पहल ने किया विरोध।

Corona Vaccine पंचायत चुनाव

लोकतान्त्रिक जन पहल ने एक संयुक्त बयान में छपरा जिला के परसा थाना अंतर्गत सगुनी पंचायत की लोकप्रिय सरपंच और प्रगतिशील सामाजिक कार्यकर्ता बिन्दु देवी को राजनितिक साजिश के तहत फर्जी मुकदमे में फंसाने पर कड़ा प्रतिवाद किया है।

पुलिस ने गत राविवार की रात उन्हें गिरफ्तार कर लिया। लोकतान्त्रिक जन पहल ने गिरफ्तारी की कड़ी निन्दा की है और प्रशासन से मांग की है कि परसा थाना के थाना प्रभारी द्वारा गैर कानूनी तरीके से की गई गिरफ्तारी पर अविलंब कारवाई की जाए और नियमानुसार जांच कराकर फर्जी मुक़दमे से बिंदु को मुक्त किया जाए।

उल्लेखनीय है कि सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशानुसार किसी भी महिला को पुलिस सूरज डूबने के बाद गिरफ्तार नहीं कर सकती है। बिंदु को पुलिस ने देर शाम गिरफ्तार कर रातभर थाने में रखा। बिंदु अतिपिछड़ी जाति से आती हैं। उन्होंने पटना विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में प्रथम श्रेणी से एमए किया है। पीजी डिप्लोमा रूरल डेवलपमेंट और बीएड भी कर चुकी हैं। वह सामान्य सीट से चुनाव जीत कर सरपंच बनी थीं। इस बार भी चुनाव लड़ने को तैयार हैं। इसलिए कुछ दबंगों ने फर्जी मुकदमा कर बिंदु को जेल भेजवाया है।

दिनांक 24 /10/ 2021 को पैतृक सम्पति के विवाद के चलते पट्टीदारों में मारपीट हुई। मालूम होने पर बिन्दु देवी अपने घर से निकलकर लोगों को शांत करने के लिए बीच-बचाव करने लगीं। घटना के बाद बिन्दु देवी को आशंका हुई कि उसके खिलाफ फर्जी मुकदमा लोग कर सकते हैं। इसलिए सरपंच की हैसियत से उन्होंने परसा थाना प्रभारी को तत्काल वाट्सएप से सूचनार्थ आवेदन भेज दिया।

जब बिन्दु देवी आवेदन की हार्ड काॅपी लेकर थाने में देने गई और प्राप्ति की मांग की तो थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों ने बिन्दु देवी को धमकाने और गिरफ्तार करने की धमकी दी। लेकिन जब उन्होंने बताया कि संबंधित आवेदन वाट्सएप के माध्यम से थाना प्रभारी और जिला पुलिस अधीक्षक के द्वारा अवलोकित किया जा चुका है, तब प्राप्ति दी गई।

लेकिन अचानक रात में पुलिस आकर जबरन बिन्दु को उठा ले गई। बिंदु पर फर्जी मुकदमे लादने तथा गिरफ्तारी के खिलाफ बयान पर हस्ताक्षर करने वालों में सुधा वर्गीज, तब्बस्सुम, लीमा रोज, जोस के, अशोक कुमार एडवोकेट, अनुपम प्रियदर्शी, रिजवान अहमद, अफज़ल हुसैन, शैलेन्द्र प्रताप सिंह एडवोकेट, मनहर कृष्णा अतुल , प्रदीप प्रियदर्शी, कपिलेश्वर राम, शम्स खान, कृष्ण मुरारी, विनोद रंजन, निर्मल नंदी और सत्य नारायण मदन, संयोजक प्रमुख हैं।

मिस टीन इंडिया के फाइनल में पहुंची बिहार की बेटी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*