ED चीफ के सेवा विस्तार के 4 दिन लालू की संपत्ति जब्ती की आई खबर

ED चीफ के सेवा विस्तार के 4 दिन लालू की संपत्ति जब्ती की आई खबर

ED चीफ के सेवा विस्तार के 4 दिन लालू की संपत्ति जब्ती की आई खबर। एजेंसी ने अब तक आधिकारिक बयान जारी नहीं किया, पर सूत्रों के हवाले से चल रही खबर।

मोदी सरकार ED चीफ संजय कुमार मिश्रा के सेवा विस्तार के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंची थी। चार दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने ईडी प्रमुख की सेवा 15 सितंबर, 2023 तक के लिए बढ़ा दी थी। उसी समय विपक्षी दलों ने आशंका जताई थी कि ईडी प्रमुख के सेवा विस्तार के पीछ केंद्र सरकार का मकसद विपक्षी नेताओं को परेशान करना है। अब ईडी प्रमुख के सेवा विस्तार के चार दिन पहली खबर मीडिया में आ रही है कि नौकरी के बदले जमीन केस में लालू प्रसाद और उनके परिजनों की संपत्ति जब्त की गई है।

इंडियन एक्सप्रेस तथा अन्य अखबारों के डिजिटल संस्करण में ईडी के सूत्रों से खबर चल रही है कि राजद प्रमुख लालू प्रसाद और उनके परिवार की गाजियाबाद और पटना में संपत्ति जब्त की गई है। यह संपत्ति कैसी है, कितने की संपत्ति है, इसके बारे में अब तक कोई जानकारी नहीं दी गई है। नौकरशाही डॉट कॉम ने ईडी की वेबसाइट सर्च की, तो वहां लालू परिवार की संपत्ति जब्त करने संबंधी कोई विज्ञप्ति जारी नहीं की गई है।

नौकरशाही डॉट कॉम ने संपत्ति जब्त किए जाने की खबर पर राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन को फोन किया, तो उन्होंने कहा कि ईडी प्रमुख के सेवा विस्तार का यही रिजल्ट है।

अब तक मिल रही जानकारी के अनुसार ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) के तहत एक अंतरिम आदेश जारी किया है। इस आदेश में लालू प्रसाद की गाजियाबाद और पटना की संपत्ति जब्त करने की बात है। विस्तृत जानकारी अब तक सामने नहीं आई है। मालूम हो कि ईडी ने इस मामले में में लालू प्रसाद, राबड़ी देवी तथा तेजस्वी यादव का बयान ले चुकी है। सीबीआई भी इस मामले में पहले कई बार छापेमारी कर चुकी है।

चुनाव जीतने के लिए BJP राममंदिर पर हमला करा सकती है : मलिक