गौ माता के साथ घोटाला, गौशाला ठेकेदारों ने चीफ जस्टिस को लिखा पत्र

गौ माता के साथ घोटाला, गौशाला ठेकेदारों ने चीफ जस्टिस को लिखा पत्र। मप्र की भाजपा सरकार में 50 परसेंट कमीशनखोरी का दूसरा मामला आया सामने।

मध्यप्रदेश में भाजपा की शिवराज सिंह चौहान सरकार पर 50 परसेंट कमीशन की सरकार होने का नया आरोप सामने आया है। अब गौशाला पेटी कॉन्ट्रैक्टर संगठन ने भी उच्च न्यायालय जबलपुर के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिख कर 50 परसेंट कमीशनखोरी का आरोप लगाया है। पत्र में ठेकेदारों ने लिखा कि 50 परसेंट कमीशनखोरी के संबंध में सबूतों के साथ शिकायत की गई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। गौशाला ठेकेदारों के पत्र को कांग्रेस ने गुरुवार को जारी करते हुए फिर कहा कि मप्र की भाजपा सरकार 50 परसेंट कमीशनखोरी की सरकार है।

सबसे आश्चर्यजनक तो यह है कि दो दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले से राष्ट्र को संबोधित करते हुए देश की तीन बुराइयां बताई थीं और कहा था कि वे इन बुराइयों के खिलाफ लड़ेंगे। इन तीन बुराइयों में पहली बुराई उन्होंने भ्रष्टाचार को बताया था।

कांग्रेस ने गौशाला ठेकेदारों के पत्र को शेयर करते हुए लिखा-मध्य प्रदेश में 50% कमीशन सरकार! ग्वालियर के बाद अब रीवा में गौशाला पेटी कांट्रेक्टर संगठन ने मध्य प्रदेश के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखकर जांच की गुहार लगाई है। पत्र में कहा गया है कि- 38 लाख रुपए की गौशाला में 14.50 लाख रुपए से ज्यादा के कमीशन की शिकायत सबूत के साथ की गई पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। BJP सरकार के कुशासन में मध्य प्रदेश भ्रष्टाचार के दलदल में फंस चुका है और जनता कमीशनखोरी से तंग आ चुकी है।

याद रहे हाल में ही एक ठेकेदार ने मप्र की भाजपा सरकार पर 50 परसेंट कमीशन लेने के आरोप के साथ उच्च न्यायालय के न्यायाधीश को पत्र लिखा। इस पत्र की खबर को प्रियंका गांधी ने सेशल मीडिया में शेयर किया था, जिसके बाद शिवराज सिंह चौहान सरकार ने प्रियंका गांधी, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सहित कई कांग्रेस नेताओं के खिलाफ 41 जिलों में एफआईआर कर दी थी। अभी वह मामला शांत भी नहीं पड़ा है कि 50 परसेंट कमीशनखोरी का दूसरा मामला सामने आ गया। अब देखना है कि क्या भाजपा सरकार इस मामले में भी कांग्रेस के खिलाफ एफआईआर करेगी?

RPF जवान ने बुर्केवाली पर रायफल तानी, पर गोली क्यों नहीं चलाई

By Editor