गुमला में मंदिर में मांस फेंकनेवाला ठाकुर गिरफ्तार, मीडिया खामोश

गुमला में मंदिर में मांस फेंकनेवाला ठाकुर गिरफ्तार, मीडिया खामोश। हिंदू-मुस्लिम के बाच तनाव पैदा करने की साजिश बेनकाब। पुलिस ने सारी कहानी बताई।

गुमला में स्वतंत्रता दिवस से पहले गुमला के एक मंदिर में मांस का टुकड़ा फेंक दिया गया। इसके बाद विहिप और बजरंग दल ने इसे बड़ा मुद्दा बना दिया। आज 23 अगस्त को गुमला बंद का एलान भी कर दिया। इसी बीच मंगलवार को पुलिस ने मंदिर में मांस फेंकने वाले राजदीप ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसे मीडिया के सामने भी पेश किया। सोचिए मांस फेंकने वाला अगर मुस्लिम होता, तो यही मीडिया इस पर तूफान मचा देती। राजदीप की गिरफ्तारी को अखबारों ने स्थानीय संस्करण में छाप कर कर्तव्य पूरा कर लिया। जबकि यह मीडिया की जिम्मेदारी है कि वह फेंकनेवाला ठाकुर गिरफ्तार, मीडिया खामोश। हिंदू-मुस्लिम के बाच तनाव पैदा करने की साजिश बेनकाब। पुलिस ने सारी कहानी बताई।

सभी प्रमुख अखबारों ने अपने डिजिटल एडिशन में मांस फेकने की खबर प्रकाशित की थी, लेकिन उन्हीं डिजिटल एडिशन में राजदीप के गिरफ्तार होने की खबर नदारद है। कुछ वेबसाइट ने जरूर खबर बनाई है। इस बीच सोशल मीडिया पर रादीप के पकड़े जाने की खबर शेयर की जा रही है।

पत्रकार जाकिर अली त्यागी ने लिखा-झारखंड की गुमला पुलिस ने राजदीप ठाकुर नामक युवक को इसलिए गिरफ्तार किया है क्योंकि उसने माहौल ख़राब करने के लिए टोटो की शिव मंदिर में मांस का टुकड़ा फेंका था, मंदिर में मांस का टुकड़ा मिला तो इलाके में तनाव की स्तिथि पैदा होने लगी माहौल में ज़हर घुल ही चुका था कि पुलिस ने मामले में जांच की तो पता चला कि मंदिर में मांस किसी मुस्लिम ने नही बल्कि माहौल ख़राब करने के लिए राजदीप ठाकुर ने फेंका है,पुलिस ने यह भी बताया कि राजदीप पूर्व में भी माहौल ख़राब करने के लिए इस तरह के मामलों को अंजाम दे चुका है!

इस गिरफ्कारी से धार्मिक तनाव पैदा करने की बड़ी साजिश का पर्दाफाश हुआ है। झारखंड मुक्ति मोर्चा से जुड़े अरुण वर्मा ने लिखा-अगर अच्छे से जांच हो जाए तो दंगा भड़काने के लिए झारखंड के गुमला जिला में अवस्थित शिव मंदिर में मास का टुकड़ा फेकने वाला राजदीव ठाकुर निश्चित रूप से @BJP4India या @RSSorg से जुड़ा नफरती चिंटू निकलेगा फूट डालो और राज करो अग्रेजों का स्लोगन था मोदी राज में नया स्लोगन आया है फूट डालो फिर लूट डालो।

मेडल लाओ-नौकरी पाओ योजना में बिहार के 80 खिलाड़ियों को मिली नौकरी

By Editor