जानिए, विपक्षी एकता पर लालू ने किस मामले में खींची लकीर

जानिए, विपक्षी एकता पर लालू ने किस मामले में खींची लकीर

दिल्ली में राजद के अधिवेशन में लालू प्रसाद ने बिना नाम लिये अखिलेश यादव, मायावती, ममता से लेकर वाईएसआर तक सबको दिया संदेश। जानिए, क्या कहा-

लालू प्रसाद ने सोमवार को दिल्ली में पार्टी के अधिवेशन को संबोधित करते हुए देश को आगाह किया कि भाजपा हिंदू राष्ट्र का एजेंडा लागू कर रही है। वह देश से लोकतंत्र को खत्म कर रही है और तानाशाही की तरफ ले जा रही है। देश के लिए खतरनाक समय है। कांग्रेस सहित सभी विपक्षी दलों को एक साथ आना होगा। जो दल साथ नहीं आएगा, इतिहास उसे माफ नहीं करेगा।

राजद का राष्ट्रीय अध्यक्ष निर्वाचित होने के बाद अधिवेशन को संबोधित करते हुए लालू प्रसाद ने बिना किसी का नाम लिये एक लकीर खींच दी। कई दल ऐसे हैं जो देश में भाजपा और कांग्रेस विरोधी मोर्टा बनाने की कोशिश कर रहे हैं। इसे तीसरा मोर्चा का भी नाम दिया जाता है। लालू प्रसाद ने स्पष्ट तौर पर तीसरे मोर्चे को खारिज कर दिया और कहा कि कांग्रेस सहित सारे विपक्षी दलों को एक साथ आना होगा। उन्होंने इशारों-इशारों में अखिलेश यादव, मायावती से लेकर ममता बनर्जी तथा वाईएसआर तक को संदेश दे दिया कि भाजपा और कांग्रेस दोनों से समान दूरी या दोनों के खिलाफ किसी मोर्चे का कोई भविष्य नहीं है। लालू प्रसाद आज पूरे फॉर्म में दिखे। उन्होंने कहा कि 2024 चुनाव में नरेंद्र मोदी की सरकार को उखाड़ फेंकना है।

तेजस्वी यादव ने भी कहा कि पूरी पार्टी की नजर 2024 के लोकसभा चुनाव पर है। हमें मिलकर भाजपा को हराना है। आज देश के सामने सबसे बड़ी चुनौती RSS के एजेंडा से लड़ने की है। RSS ने समाज में घृणा और वैमनस्य का ज़हर घोल दिया है। हमें अपने विचार पर अड़िग रहकर RSS की कट्टर जातिवादी एवं सामाजिक न्याय विरोधी वैचारिकी से लड़ना है। समाजवाद ही पूंजीवाद और संप्रदायवाद का विकल्प है। लालू प्रसाद ने कहा कि भाजपा जानती है कि वह बिहार में @RJDforIndia से बिना प्रपंच और जनादेश की चोरी के कभी सपने में भी पार नहीं पा सकती, इसीलिए ED, CBI, IT जैसे अपने जमाइयों को काम पर लगाना पड़ता है!

मुस्लिमों के बहिष्कार के उग्र भाषण पर नहीं, आयोजकों पर FIR

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*