जापान के दूसरे शहर ओसाका पहुंचे तेजस्वी, बौद्ध स्थलों की दी जानकारी

जापान के दूसरे शहर ओसाका पहुंचे तेजस्वी, बौद्ध स्थलों की दी जानकारी। टूर एंड ट्रैवल ऑपरेटर्स के साथ संवाद किया। बिहार सरकार की सुविधाओं से अवगत कराया।

उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने अपनी जापान यात्रा के दौरान ओसाका शहर में बिहार टूरिज्म रोड शो कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने टोक्यो के बाद जापान के दूसरे प्रमुख शहर ओसाका में बिहार टूरिज्म रोड शो के माध्यम से वहाँ के प्रमुख टूर & ट्रैवल ऑपरेटर्स के साथ संवाद कर उन्हें बिहार के पर्यटक स्थलों के बारे में अवगत कराया तथा उनकी अपेक्षाओं व समस्याओं को जाना और समझा।

तेजस्वी यादव ने अपने संबोधन में बताया कि बिहार एक पौराणिक, आध्यात्मिक, धार्मिक और ऐतिहासिक रूप से सबसे समृद्ध राज्य है जो विभिन्न रुचि व उद्देश्यों वाले पर्यटकों की अपेक्षाओं को पूरा करता है। #बिहार भगवान बुद्ध की भूमि है, उन्होंने यहीं से ज्ञान प्राप्त किया और निर्वाण प्राप्ति के लिए आगे बढ़े। सभी भारतीय राज्यों में से बिहार ही बुद्ध के जीवन के पड़ावों से सर्वाधिक निकटता से जुड़ा हुआ है, जिसके परिणामस्वरूप बौद्ध धर्म की दृष्टि से बिहार में महत्वपूर्ण तीर्थयात्राओं का एक मार्ग और पवित्र स्थलों का समूह बनाया गया है जिसे बौद्ध सर्किट का नाम दिया गया है।

तेजस्वी यादव जी ने कहा कि बिहार के पास एक समृद्ध ऐतिहासिक विरासत है। बिहार की कई संरचनाओं को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विरासत स्थलों के रूप में मान्यता भी प्राप्त है।

सिख धर्म के दसवें गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह जी महाराज का जन्म यहीं हुआ था और उन्होंने अपना बचपन यहीं बिताया था। माँ सीता का जन्म यहीं सीतामढी में हुआ था और उनका बचपन बिहार के मिथिला क्षेत्र में बीता था। जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर महावीर स्वामी का जन्म यहीं हुआ था और बिहार उनकी कर्मभूमि रही है। मनेर शरीफ, बिहार शरीफ, फुलवारी शरीफ प्राचीन सूफी आस्था के केंद्र हैं। सासाराम, चंपारण क्षेत्र, पटना, भागलपुर में विक्रमशिला, पावापुरी, नालंदा से जुड़ी बिहार में बहुत से समृद्ध पौराणिक, ऐतिहासिक, धार्मिक और सांस्कृतिक परंपराएँ हैं जो बिहार के लोगों के असंख्य त्योहारों, उत्सवों और जीवन में प्रतिबिंबित होती हैं।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी के मार्गदर्शन में बिहार सरकार का पर्यटन विभाग बौद्ध तीर्थाटन का पश्चिम व दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों में प्रचार-प्रसार के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है। बिहार एक ऐसा राज्य है जिसके पास पर्यटन का एक प्रमुख केंद्र बनने की अपार संभावनाएं हैं और पर्यटन के माध्यम से राज्य में नौकरी/रोजगार तथा आय को भी उल्लेखनीय रूप से बढ़ाया जा सकता है। इसी सोच के साथ बिहार सरकार सभी Stakeholders के साथ समन्वय, सामंजस्य और सहयोग स्थापित करते हुए आगे बढ़ रही है जिसका सकारात्मक परिणाम मिलना सुनिश्चित है। बिहार टूरिज़्म रोड शो में बिहार के पर्यटन सचिव अभय कुमार सिंह, बिहार राज्य पर्यटन निगम के एमडी नंदकिशोर, भारत दूतावास में अंडर सेक्रेटरी अनिल रतूड़ी, बिहार फाउंडेशन, जापान चैप्टर के अध्यक्ष आनंद विजय सिंह के अलावा बिहार dispora के लोग मौजूद थे।

दो नवंबर को 25 हजार शिक्षक अभ्यर्थियों को नियुक्तपत्र देंगे नीतीश

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420