जश्न-ए-आजादीः मुशायरा, शास्त्रीय- सूफी संगीत का होगा संगम

जश्न-ए-आजादीः मुशायरा, शास्त्रीय- सूफी संगीत का होगा संगम

पटना लिटरेरी फेस्टिवल का जश्न-ए-आजादी ऐतिहासिक होने जा रहा है। देशभर के ख्यातिप्राप्त 35 कलाकार भाग लेंगे। शुरुआत 12 अगस्त से होगी।

फहीम अहमद, खुर्शीद अहमद, डॉ. शकील मोइन, डॉ. एए हई, फैजान अहमद, एजाज हुसैन (बाएं से दाएं)

आजादी का जश्न मनाने का अपना-अपना तरीका होता है। लेकिन इस बार आजादी का जश्न खास है। क्र्योंक हम आजादी का 75वां सालगिरह मनाने जा रहे हैं। ऐसे में इसे यादगार बनाने की हम सब की जिम्मेदारी है। इसी जिम्मेदारी को बढ़ चढ़कर निभा रहा है एडवांटेज सपोर्ट की पहल ‘पटना लिटरेरी फेस्टिवल‘।

पटना लिटरेरी फेस्टिवल का कार्यक्रम बहुत बड़ा होगा जिसमें 5 प्रोग्राम, 5 माॅडरेटर एवं 35 आर्टिस्ट भाग लेंगे: खुर्शीद अहमद

पटना लिटरेरी फेस्टिवल जश्न-ए-आजादी का आयोजन करने जा रहा है। यह 12 से 15 अगस्त तक वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर होगा। 15 अगस्त की शाम संगीतमय होगी, जिसमें शास्त्रीय के साथ सूफी और फिल्मी संगीत का मिलन होगा। पटना लिटरेरी फे स्टिवल के सचिव खुर्शीद अहमद ने बताया कि देश के दिग्गज कलाकार इस शाम को खास बनाने के लिए होंगे, जिसमें शास्त्रीय गायिका पद्मश्री डॉ. सोमा घोष, प्रसिद्ध सूफी गायक शादाब फरीदी और डॉ. ममता जोशी तथा जानेमाने बॉलीवुड गायक शिखर कुमार होंगे। डॉ. सोमा घोष सात बजे से 7.30 बजे तक, शादाब फरीदी 7.30 से 8 बजे तक, शिखर कुमार आठ से नौ बजे तक और डॉ. ममता जोशी नौ से 10 बजे तक प्रस्तुती देंगी। इस सेगमेंट का संयोजन में जानेमानी दूरदर्शन एंकर प्रेरणा प्रताप करेंगी। 15 अगस्त के दिन दोपहर 12 बजे से 1.30 बजे तक टॉक शो होगा। कार्यक्रम का सीधा प्रसारण यूट्यूब, लाइव सिटीज, फस्र्ट बिहार, सिटी पोस्ट लाइव और नौकरशाही डॉट काम पर होगा। इस पूरे जश्न का सहयोगी दिल्ली की एजेंसी टेक्नोलाॅजी एवं क्रिएटीविटी पार्टनर पावर्ड बाई ‘शो क्राफ्ट‘ है।

कार्यक्रम की शुरुआत उदयपुर टेल्स की ओर से स्टोरी टेलिंग व कथावाचन 12.08.2021 से होगा। इस चार दिवसीय जश्न में पांच कार्यक्रम होंगे, जिसमें 35 कलाकार व रचनाकार अपनी प्रस्तुती देंगे। पांचों कार्यक्रम का संचालन पांच अलग-अलग मॉडरेटर करेंगे।

मुफ्त में कराएं रजिस्ट्रेशन और जश्न का लुत्फ उठाएं
खुर्शीद अहमद ने बताया कि कार्यक्रम के संबंध में पटना लिटरेरी फेस्टिवल के सदस्यों की प्रसिद्ध सर्जन डॉ. एए हई की अध्यक्षता में उन्हीं के एग्जीबिशन रोड स्थित आवास पर बैठक हुई। उसी बैठक में ये सब निर्णय लिए गए। बैठक में डॉ. शकील मोइन ;च्वमजद्ध को सलाहाकार मनोनीत किया गया। कार्यक्रम बेहतर, भव्य और खूबसूरत होगा। बैठक में ऑर्गेनाइजिंग कमिटी के चेयरमैन फैजान अहमद, एजाज हुसैन, फहीम अहमद आदि भी मौजूद थे। उन्होंने बताया कि जश्न का लुत्फ कोई भी व्यक्ति उठा सकता है। जो लोग कार्यक्रम देखना चाहते हैं, वो मुफ्त में समय से इस लिंक https://us02web.zoom.us/webinar/register/WN_DoFiIQNFT_m9j-oHwJZjDw पर रजिस्ट्रेशन करा लें। जूम पर 1000 लोग ही कार्यक्रम देख सकेंगे। इसके लिए एडवांटेज सपोर्ट के वोलिंटियर रवि कुमार से मोबाइल नंबर 82103 00764 पर लोग संपर्क कर सकते हैं।

जश्न -ए-आजादी कार्यक्रम विवरण-

12 अगस्तः शाम सात बजे से कथावाचन व स्टोरी टेलिंग का कार्यक्रम होगा। यह सेगमेंट इंटरनेशनल स्टोरी टेलिंग फेस्टिवल उदयपुर टेल्स के सहयोग से किया जा रहा है। इसमें दास्तानेगोई सैयद शाहिल आगा करेंगे। शहदाज म्यूजिकल गु्रप भी इसमें अपनी प्रस्तुती देगा। कार्यक्रम में कठपुतली का खेल दिखानेवाले वरुण नारायण और बिग एफएम(दुबई) के क्रिएटिव डायरेक्टर गगन मुदगल भी होंगे। उदयपुर टेल्स संस्थापक सदस्य शलील भंडारी एवं सुष्मिता सिंघा भी रहेंगी। पूरे कार्यक्रम का संचालन दुबई के गगन मुदगल करेंगे। श्रीमति सिंघा उदयपुर टेल्स की संस्थापक एवं सदस्य हैं। वो मूलतः बिहार की ही रहनेवाली हैं।

महामारी में उत्कृष्ट कार्य के लिए Advantage Care को मिला अवार्ड

13 अगस्तः शाम आठ बजे से ई-मुशायरा होगा। इसकी अध्यक्षता डॉ. एए हई करेंगे। इसमें हसीब सोज, जौहर कानपुरी, चरण सिंह बशर, तजवार सुल्तान, अहमद दानिश, काजिम रजा और तौशिफ तबीश शामिल होंगे। इसकी निजामत मजीद दवबंदी करेंगे।

14 अगस्तः ई-मुशायरा की दूसरी सीरिज होगी। आठ बजे से कार्यक्रम श्ुारू होगा। इसकी भी अध्यक्षता डॉ. एए हई करेंगे। शबीना अदीब, इकबाल अशरार, हसन काजमी, शकील मोईन, सागर त्रिपाठी, इकबाल पतनी और कासिफ अदीब लोगों को अपनी शायरी से मनोरंजन करेंगे। इसकी निजामत मोईन शादाब करेंगे।

15 अगस्तः 12 से डेढ़ बजे तक टॉक शो होगा। इसमें जेएनयू के प्रो. अनवर पाशा, वरिष्ठ पत्रकार धीरेंद्र नाथ श्रीवास्तव, जेएनयू के प्रो. आनंद कुमार, विश्व समन्वय संघ के अतुल प्रभाकर और ब्यूटीफूल माइंट की प्रमोटर शाइस्ता एस हैदर हिस्सा लेंगी। कार्यक्रम का संचालन टीवी एंकर अफशां अंजुम करेंगी। शाम सात बजे से 10 बजे तक संगीतमय कार्यक्रम होगा। डॉ. सोमा घोष, शादाब फरीदी, शिखर कुमार और डॉ. ममता जोशी शास्त्रीय, फिल्मी और सूफी गायन पेश करेंगे।

पटना लिटरेरी फेस्टिवल के सदस्य- डॉ. ए ए हई, खुर्शीद अहमद, फैजान अहमद, डॉ. परवेज अख्तर, फहीम अहमद, डॉ. वकार अहमद, शिवजी चतुर्वेदी, एजाज हसन और अनुप शर्मा।

मिजाज में आएगा परिवर्तनः डॉ. ए ए हई
पटना लिटरेरी फेस्टिवल के सदस्य व प्रसिद्ध सर्जन डॉ. ए ए हई का कहना है कि कोरोना की वजह से लोगों के मन मिजाज पर नाकारात्मक असर पड़ा है। पूरी दुनिया मानसिक परेशानी से गुजर रही है। एडवांटेज सपोर्ट का एडवांटेज विंग स्वास्थ्य सेक्टर में काम कर ही रहा है। इसका एक और विंग पटना लिटरेरी फेस्टिवल साहित्य और कला के क्षेत्र में भी काम कर रहा है। पटना लिटरेरी फेस्टिवल का 12 अगस्त से आगाज हो रहा है। इसमें ईईएमए और उदयपुर टेल्स सहयोग कर रहा है। इस कार्यक्रम के अंतर्गत शायरी भी होंगे। स्थानीय शायर को भी मौका दिया जा रहा है। डॉ. हई ने एक शेर बोलते हुए कहा कि गजल उसने छेड़ी मुझे साज देना, जरा उम्र-ए-रफ्ता को आवाज देना। उन्होंने कहा कि पटना लिटरेरी फेस्टिवल को आगे ले जाना चाहेंगे। इसके लिए हमलोग प्रयासरत हैं। यह समाज को बहुत कुछ दे रहा है।

लिटररी फेस्टिवल : देशभक्ति का जज्बा जगाएंगे शायर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*